Search

डेली करेंट अफेयर्स डाइजेस्ट: 18 अप्रैल 2019

जागरणजोश.कॉम पाठकों की सुविधा हेतु प्रतिदिन के करेंट अफेयर्स से सम्बंधित जानकारी को संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत कर रहा है.

Apr 18, 2019 18:40 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

जागरणजोश.कॉम पाठकों की सुविधा हेतु प्रतिदिन के करेंट अफेयर्स से सम्बंधित जानकारी को संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत कर रहा है.

जेट एयरवेज का परिचालन अस्थाई रूप से ठप

जेट एयरवेज फंड की मदद नहीं मिलने से विमानों का परिचालन अस्थाई रूप से ठप कर दिया है. आर्थिक तंगी की वजह से जेट एयरवेज ने अस्थायी रूप से परिचालन बंद करने की घोषणा कर दी है. बैंकों द्वारा 400 करोड़ रुपये का इमर्जेंसी फंड देने से इनकार के बाद कंपनी ने कहा कि सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को तत्काल प्रभाव से रद्द किया जा रहा है.

कंपनी के पास ईंधन और अन्य खर्चों के लिए धन की कमी है. हालांकि कंपनी ने जल्द ही फिर यात्रियों की सेवा कर पाने की उम्मीद जताई है. भारी कर्ज में फंस चुकी कंपनी के पांच ही विमान इस समय संचालन में रह गए थे. 25 साल पुरानी एयरलाइन कंपनी पर आठ हजार करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है.

बजरंग पूनिया फिर से बने नंबर वन पहलवान

भारतीय पहलवाल बजरंग पुनिया ने पुरूषों की 65 किलोग्राम फ्री स्‍टाइल कुश्‍ती में फिर से विश्‍व में पहला स्‍थान हासिल किया. एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीतने वाले भारत के 9वें पहलवान हैं.

बजरंग पुनिया साल 2018 में भी 65 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग की रैंकिंग में नंबर एक पर पहुंच थे लेकिन बाद में दूसरे स्थान पर चले गये थे. उन्होंने साल 2018 में राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के अलावा विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक भी हासिल किया था.

उत्तर कोरिया ने नए शक्तिशाली आयुधों से युक्त हथियार का परीक्षण किया

उत्तर कोरिया ने एक नए सामरिक हथियार का परीक्षण किया गया है. यह हथियार शक्तिशाली आयुधों से लैस है. अमेरिका के साथ परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर शुरू हुई वार्ता के अवरूद्ध होने के बाद किया गया यह पहला परीक्षण है.

यह परीक्षण किम और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बीच शिखर वार्ता बिना किसी समझौते तक पहुंचे टूट जाने के बाद उत्पन्न तनाव को दर्शाता है.

अंतरिक्ष स्टेशन में सबसे अधिक समय तक रहने वाली महिला बनने का रिकार्ड

नासा की अंतरिक्ष यात्री क्रिस्टीना कोच के अंतरिक्ष अभियान की अवधि में विस्तार होने के साथ ही अब वह अंतरिक्ष स्टेशन में 328 दिन बिताने एक नया रिकॉर्ड बनाने को तैयार हैं. किसी भी महिला द्वारा अंतरिक्ष स्टेशन में बिताया गया यह सबसे अधिक समय होगा.

क्रिस्टीना कोच 14 मार्च को अंतरिक्ष स्टेशन पहुंची थीं और अब तैयार समय सारिणी के अनुसार वह फरवरी 2020तक वहां रहेंगी. इससे पहले 2016-17 में अतरिक्ष यात्री पैगी व्हिट्सन ने 288 दिन अंतरिक्ष स्टेशन में बिताने का रिकॉर्ड बनाया था. पुरुषों में सबसे अधिक 340 दिन स्कॉट केली ने अंतरिक्ष स्टेशन में बिताए हैं. यह रिकॉर्ड 2015-16 में बनाया गया था.

नेपाल ने अमेरिका से अपना पहला उपग्रह 'नेपालीसैट-1' लॉन्च किया

नेपाल ने अपना पहला उपग्रह नेपालीसैट-1 17 अप्रैल 2019 को अमेरिका से सफलतापूर्वक प्रक्षेपित किया. नेपाल एकेडमी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (एनएएसटी) के मुताबिक, नेपाल के वैज्ञानिकों द्वारा तैयार उपग्रह अमेरिका में वर्जीनिया से प्रक्षेपित किया गया.

जापान के क्यूशू इंस्टीच्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में इस समय अध्ययनरत नेपाल के दो वैज्ञानिक आभास मास्की और हरिराम श्रेष्ठ ने अपनी संस्था की बीआईआरडीएस (बर्डस) परियोजना के तहत उपग्रह तैयार किया.

सोहैल महमूद ने पाकिस्तान के विदेश सचिव का पदभार संभाला

भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त रह चुके सोहैल महमूद ने 17 अप्रैल 2019 को देश के नए विदेश सचिव का पदभार संभाल लिया और देश की विदेश नीति से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करने के लिए विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से मुलाकात की. सोहैल महमूद ने तहमीना जांजुआ का स्थान लिया है, जो दो साल तक पाकिस्तान की विदेश सचिव के रूप में सेवा देने के बाद 16 अप्रैल को इस पद से सेवानिवृत हो गईं.

सोहैल महमूद इससे पहले तुर्की के लिए पाकिस्तान के राजदूत के रूप में काम कर चुके हैं. इससे पहले, उन्होंने थाईलैंड के राजदूत और यूनेस्को बैंकॉक के स्थायी प्रतिनिधि के रूप में 2013 तक चार साल तक अपनी सेवाएं दी है. महमूद ने बैंकॉक में पद संभालने से पहले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल के लिए राजनीतिक समन्वयक के रूप में भी काम किया है.

चांद पर मौजूद पानी को उल्कापिंडों ने नुकसान पहुंचाया: नासा

चंद्रमा पर उल्कापिंडों की वर्षा के कारण उसकी सतह के नीचे मौजूद बहुमूल्य पानी को नुकसान पहुंचा और इस वजह से गहन अंतरिक्ष में सतत दीर्घावधि वाली मानवीय खोज के कार्य में संभावित स्रोत को नुकसान पहुंचा है. नासा के शोधकर्ताओं ने यह जानकारी दी है.

नासा और अमेरिका के जॉन्स होपकिंस यूनिवर्सिटी अप्लायड फिजिक्स लेबोरेट्री के शोधकर्ताओं को नासा के लूनर एटमॉसफेयर एंड डस्ट एनवायरनमेंट एक्सप्लोरर (एलएडीईई) द्वारा एकत्रित आंकड़े से ऐसी कई घटनाओं का पता चला. एलएडीईई एक रोबोटिक अभियान था. इसने चंद्रमा की कक्षा में परिक्रमा करते हुए चंद्रमा के विरल वायुमंडल की संरचना तथा चंद्रमा के आसमान में धूल के प्रसार के बारे में विस्तृत जानकारी जुटायी. यह अध्ययन ‘नेचर जियोसाइंसेज’ में प्रकाशित हुआ है.

Download our Current Affairs& GK app from Play Store/For Latest Current Affairs & GK, Click here