Search

तमिलनाडु विधान परिषद विधेयक 2010

Oct 10, 2010 13:26 IST
1

5 मई 2010 को राज्यसभा ने तमिलनाडु विधान परिषद विधेयक 2010 को पारित कर दिया. विधेयक में 78 सीटों का प्रावधान किया गया है. विदित है कि 1986 में एआईएडीएमके (AIADMK) के संस्थापक एमजी रामचंद्रन के शासन में तमिलनाडु विधान परिषद का उन्मूलन कर दिया गया था, परन्तु करुणानिधि के नेतृत्व वाली डीएमके ने 2006 के अपने चुनावी घोषणा पत्र में तमिलनाडु विधान परिषद के पुनर्गठन की बात कही थी. इसी संदर्भ में तमिलनाडु विधानसभा ने इसके गठन हेतु दो तिहाई बहुमत से प्रस्ताव पारित किया. 1 जून 1985 को आंध्रप्रदेश विधान परिषद का उन्मूलन कर दिया गया. इसके पूर्व आंध्रप्रदेश विधान परिषद यथोचित ढंग से कार्य करती रही. 

 
महत्त्वपूर्ण तथ्य:
संविधान के अनुच्छेद 169,171(1) एवं171(2) में विधान परिषद के गठन का प्रावधान है. अनुच्छेद 169 विधानसभा में उपस्थित सदस्यों के दो तिहाई बहुमत से पारित प्रस्ताव को संघीय संसद के पास भेजा जाता है. तत्पश्चात अनुच्छेद 171(2) के अनुसार लोकसभा एवं राज्यसभा साधारण बहुमत से प्रस्ताव पारित कर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर हेतु राष्ट्रपति के पास प्रेषित कर दिया जाता है. राष्ट्रपति के हस्ताक्षर होते ही विधान परिषद के गठन की मंजूरी मिल जाती है. विदित है कि भारत में तमिलनाडु सहित निम्नलिखित कुल 6 राज्यों में विधान परिषदें हैं. 

राज्य का नाम                         सीटें
बिहार                                      75
उत्तर प्रदेश                                 99
महाराष्ट्र                                    78
कर्नाटक                                   75
जम्मू-कश्मीर                              36
तमिलनाडु                                  78