ताज महल के बाग़ पूरी तरह से सूर्य अयनांत की रेखा में

13 जनवरी 2015 को फिलिका पत्रिका में मुगल बागों के उन्मुखीकरण पर टिप्पणी शीर्षक से प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार ताज महल गार्डन में ग्रीष्म और शीत अयनांत के दिन सूर्योदय और सूर्यास्त एक ही रेखा में होते हैं.

Created On: Feb 4, 2015 15:55 ISTModified On: Feb 5, 2015 16:00 IST

13 जनवरी 2015 को फिलिका पत्रिका में मुगल बागों के उन्मुखीकरण पर टिप्पणी शीर्षक से प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार ताज महल गार्डन में ग्रीष्म और शीत अयनांत के दिन सूर्योदय और सूर्यास्त एक ही रेखा में होते हैं.

अध्ययन की लेखिका अमेलिया कैरोलिना स्पराविगना हैं, स्पराविगना ने खोज के लिए सन कैल-सी नामक एक कंप्यूटर एप्प का प्रयोग किया है जो सूर्योदय और सूर्यास्त की दिशा की सही जानकारी के लिए गूगल अर्थ उपग्रह चित्रण तकनीक का प्रयोग करता है.

अध्ययन का निष्कर्ष
अध्यन से यह निष्कर्ष निकला है कि ग्रीष्म अयनांत(हर वर्ष 21 जून) को

यदि कोई व्यक्ति ताजमहल में दो रास्तों को मिलाने वाले जलमार्ग के अंत में खड़ा होता है तो वह उत्तर पूर्व में स्थित मंडप(पोवेलियन) या गुम्बद के ठीक ऊपर सूर्य उदय देख सकेगा.

और यदि वह व्यक्ति दिन भर उस स्थिति में खड़ा रहे तो वह उत्तर पश्चिम में स्थित वैसे ही मंडप(पोवेलियन) या गुम्बद के ठीक ऊपर सूर्य अस्त भी देख सकेगा.

ठीक ऐसे ही स्थिति शीत अयनांत(हर वर्ष 21 दिसम्बर) को भी  देखी जा सकती है,जब कोई व्यक्ति ताजमहल में दो रास्तों को मिलाने वाले जलमार्ग के अंत में खड़ा होता है तो वह दक्षिणपूर्व में स्थित मंडप(पोवेलियन) या गुम्बद के ठीक ऊपर सूर्य उदय देख सकेगा.

और यदि वह व्यक्ति दिन भर उस स्थिति में खड़ा रहे तो वह दक्षिण पश्चिम में स्थित वैसे ही मंडप(पोवेलियन) या गुम्बद के ठीक ऊपर सूर्य अस्त भी देख सकेगा.

ताजमहल और उसकी मीनारें इन दो मंडपों(पोवेलियन) के बीच स्थित हैं.

इस संरेखण का प्रतीकात्मक अर्थ भी हो सकता है जो वास्तुकारों को ताजमहल और उसके बगीचों के निर्माण में मदद के लिए एक व्यावहारिक माध्यम प्रदान करता होगा.

ताज महल एक सफेद संगमरमर की समाधि है जो आगरा, उत्तर प्रदेश में स्थित है.यह मुगल सम्राट शाहजहां द्वारा 1600 में उनकी तीसरी पत्नी मुमताज महल की याद में बनवाया गया था.

अन्य मुगल उद्यानों पर अमेलिया कैरोलिना स्पराविगना का अध्ययन

मुगल उद्यान 1526 -1707 के दौरान मुगल वंश द्वारा विकसित परिदृश्य वास्तुकला का एक विशिष्ट रूप है. इस वास्तुकारी की चारबाग संरचना फ़ारसी बागानों की शैली से प्रभावित थी.

आम खास बाग

आम खास बाग बाबर के द्वारा बनाए गए बागों में से एक है जो पूर्ण रूप से मुगल सम्राट शाहजहां द्वारा बनाया गया था,यह दिल्ली और लाहौर के बीच स्थित मुगल सैनिक सड़क के बीच स्थित है,यह जटिल सरद खाना नामक एक आदर्श वातानकूलित प्रणाली के लिए प्रसिद्ध था और यह उद्यान उत्तर-दक्षिण अक्ष के साथ एक आयताकार आकार का है.

हुमायूं का मकबरा
हुमायूं का मकबरा निज़ामुद्दीन पूर्व, नई दिल्ली, भारत में स्थित है. यह  द्वितीय मुगल बादशाह हुमायूं द्वारा बनवाया गया. इसका निर्माण इसके प्रारंभ होने के आठ से नौ साल बाद 1571 में हुआ.

इसके निर्माण का श्रेय ईरानी वास्तुकारों मीराक सैयद गियास और मीराक मिर्जा गियास को जाता है.

हुमायूं के मकबरे में स्थित चारबाग उद्यान के दक्षिण-पूर्वी कोने में नाई का गुम्बद है  जो एक शाही नाई की क़ब्र है.ग्रीष्म अयनांत के समय  बगीचे का दक्षिणी द्वार और नाई के मकबरा सूर्योदय की रेखा में ही पड़ते हैं.

पिंजौर का बाग
पिंजौर का बाग हरियाणा राज्य के पंचकूला जिले के पिंजौर में स्थित है.यह 17वीं सदी में पटियाला राजवंश शासक के वास्तुकार नवाब फैदी खान द्वारा बनाया गया.

यह महाराजा यादवेन्द्र सिंह की स्मृति में बनवाया गया. इसे यादवेन्द्र बाग के नाम से भी जाना जाता है.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Related Stories

Post Comment

0 + 5 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now