Search

भारतीय नौसेना-वियतनाम पीपुल्स नौसेना द्विपक्षीय अभ्यास का दूसरा संस्करण संपन्न

भारतीय नौसेना-वियतनाम पीपुल्स नेवी द्विपक्षीय अभ्यास आपसी विश्वास और अंतर-संचालन को और मजबूत करने के साथ-साथ भारतीय और वियतनाम पीपुल्स नेवी के बीच सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है.

Apr 19, 2019 09:38 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

भारतीय नौसेना ने 13 अप्रैल से 16 अप्रैल 2019 को कैम रण खाड़ी, वियतनाम में भारतीय नौसेना और वियतनाम पीपुल्स नेवी के बीच द्विपक्षीय समुद्री अभ्यास का दूसरा संस्करण शुरू किया. यह अभ्यास दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में पूर्वी बेड़े के जहाजों की विदेशी तैनाती के एक भाग के रूप में किया गया था.

कैप्टन श्रीराम अमूर की कमान में कैप्टन आदित्य हारा और शक्ति के तहत आईएन शिप्स कोलकाता ने अभ्यास में भाग लिया. भारतीय नौसेना-वियतनाम पीपुल्स नेवी द्विपक्षीय अभ्यास आपसी विश्वास और अंतर-संचालन को और मजबूत करने के साथ-साथ भारतीय और वियतनाम पीपुल्स नेवी के बीच सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है.

पहला संस्करण:

यह पहला संस्करण वियतनाम के डा नांग में 21 से 26 मई 2018 तक आयोजित किया गया था. यह अभ्यास दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों में पूर्वी बेड़े के जहाजों की चल रही प्रवासी तैनाती के एक भाग के रूप में किया गया था.

मुख्य बिंदु:

   भारतीय नौसेना और वियतनाम पीपुल्स नेवी ने पारंपरिक रूप से अच्छे संबंधों को साझा किया है.

   वार्षिक आधार पर द्विपक्षीय अभ्यास आयोजित करने से दोनों देशों के मौजूदा मजबूत द्विपक्षीय संबंधों को और अधिक बढ़ावा मिलेगा, जो माननीय प्रधानमंत्री की वियतनाम यात्रा के बाद 16 सितंबर से 'व्यापक रणनीतिक साझेदारी' के स्तर तक बढ़ा दिया गया है.

   नौसेना से नौसेना सहयोग में पनडुब्बी, विमानन और डॉकयार्ड प्रशिक्षण के क्षेत्र में एक समग्र प्रशिक्षण कार्यक्रम शामिल है.

   दोनों देशों ने व्हाइट शिपिंग सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं और एक ‘सूचना साझाकरण’ कार्यक्रम चलाया है.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें

भारत-वियतनाम सम्बन्ध:

भारत और वियतनाम के बीच अत्यन्त मधुर द्विपक्षीय सम्बन्ध हैं. दोनों देशों के बीच के सांस्कृतिक और आर्थिक सम्बन्ध तो द्वितीय शताब्दी से भी पुराने हैं. भारतीय संस्कृति से ओत प्रोत चम्पा राज्य के संगीत ने वियतनाम की संगीत पर अमिट छाप छोड़ी है. वर्तमान समय में भारत और वियतनाम के सम्बन्ध अत्यन्त प्रगाढ़ हैं और आपसी राजनैतिक महत्व के अनेक क्षेत्रों को समेटे हुए हैं.

भारत और वियतनाम ने साल 1992 में विस्तृत द्विपक्षीय आर्थिक सम्बन्धों की स्थापना की जिसमें तेल की खोज, कृषि तथा विनिर्माण सम्मिलित हैं. भारत की 'पूर्व की ओर देखो' नीति के कारण दोनों के सम्बन्ध और भी प्रगाढ़ हुए हैं, विशेष रूप से रक्षा के क्षेत्र में. दोनों के बीच सैन्य सम्बन्ध के अन्तर्गत सैन्य सामग्री का विक्रय, गुप्त सूचनाओं का आदान-प्रदान, संयुक्त नौसैनिक अभ्यास, तथा आतंक के विरुद्ध प्रशिक्षण तथा वन में युद्धकर्म के क्षेत्र उल्लेखनीय हैं.

यह भी पढ़ें: टाइम मैगजीन ने 100 प्रभावशाली लोगों की सूची जारी की