Search

भारत और मलेशिया के मध्य व्यापक आर्थिक भागीदरी समझौते पर हस्ताक्षर

भारत और मलेशिया ने दोनों देशों के बीच आर्थिक भागीदारी और विदेशी पूंजी निवेश को बढ़ावा देने के लिए व्यापक आर्थिक भागीदरी समझौते (सीईसीए) पर हस्ताक्षर किया. इस समझौते से दोनों देशों के बीच आर्थिक भागीदारी और निवेश को बढ़ावा मिलेगा. भारत की ओर से केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री आनन्द शर्मा और

Feb 21, 2011 19:24 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

भारत और मलेशिया ने दोनों देशों के बीच आर्थिक भागीदारी और विदेशी पूंजी निवेश को बढ़ावा देने के लिए व्यापक आर्थिक भागीदरी समझौते (सीईसीए) पर हस्ताक्षर किया. इस समझौते से दोनों देशों के बीच आर्थिक भागीदारी और निवेश को बढ़ावा मिलेगा. भारत की ओर से केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री आनन्द शर्मा और मलेशिया की ओर से वाणिज्य मंत्री मुस्तफा मोहम्मद ने व्यापक आर्थिक भागीदरी समझौता पर मलेशिया की राजधानी क्वालालम्पुर में 18 फरवरी 2011 को हस्ताक्षर किया. यह समझौता 1 जुलाई 2011 से लागू होना है, और इसकी पहली समीक्षा समझौता लागू होने के 1 वर्ष के भीतर किया जाना है. समझौता लागू होने के बाद मलेशिया में भारत के आम,सूत,मोटर साइकिलों ट्रक और बासमती चावल, सूती वस्त्र सहित अनेक वस्तुओं पर कम सीमा शुल्क लगेगा. इसके बदले भारत, मलेशिया से आने वाले फलों, इंजीनियरिंग वस्तुओं और रसायनों पर आयात शुल्क कम करेगा.

 

विदित हो कि मलेशिया आशियान (Association of South East Asian Nations)  देशों में भारत का तीसरा सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार है. भारत और मलेशिया का व्यापार 2005 और 2010 के बीच 3.52 बिलियन अमरीकी डॉलर से बढ़कर 9.03 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया, जो कि वर्ष 2008 में सर्वाधिक 10.65 अरब डॉलर पर पहुंच गया था. इस समझौते के लागू होने के बाद वर्ष 2015 तक भारत और मलेशिया के बीच आपसी व्यापार बढ़कर कम से कम 15 अरब डॉलर हो जाने की उम्मीद है.

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS

Also Read +