भारत ने शुरू किए जीका वायरस के खतरे से बचाव के उपाय

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने जीका वायरस के संभावित खतरे से निपटने के लिए तैयारी आरम्भ कर दी है.

Created On: Jan 31, 2016 15:07 ISTModified On: Jan 31, 2016 11:28 IST

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने जीका वायरस के संभावित खतरे से निपटने के लिए तैयारी आरम्भ कर दी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 29 जनवरी 2016 को एक बैठक कर स्वास्थ्य सचिव बी. पी. शर्मा के नेतृत्व में तकनीकी विशेषज्ञों का एक समूह गठित करने का फैसला किया. समूह अन्य देशों में जीका वायरस के फैलने से उत्पन्न स्थिति पर नजर रखेगा और आवश्यक रूप से उठाए जाने वाले कदमों के बारे में सलाह देगा.

  • केंद्र सरकार ने यह कदम विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की चेतावनी के बाद उठाया है.
  • डब्ल्यूएचओ के अनुसार इससे भारत जैसे देश प्रभावित हो सकते हैं.
  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी. नड्डा ने इस मुद्दे पर उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की.
  • इस वायरस के संक्रमण को देश में रोकने के लिए निगरानी प्रणाली को मजबूत किया जाएगा.

दो कमेटियां बनाई-

  • टेक्निकल कमेटीः यह जीका वायरस से बचाव के उपाय और इस पर एडवाइजरी जारी करने का काम करेगी.
  • जॉइंट मॉनिटर कमेटीः यह जीका मामलों की समीक्षा के लिए हर हफ्ते बैठक कर हालात की समीक्षा करेगी.

6 लैब में होगा वायरस पर काम-

  • जीका वायरस पर पुणे के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में काम चल रहा है.
  • भारत में फिलहाल इसका कोई केस सामने नहीं आया है.
  • अगले एक हफ्ते के भीतर छह और लैब में इस वायरस पर काम शुरू कर दिया जाएगा.

जीका वायरस से बचाव के उपाय-

  • डेंगू प्रकोप वाले एडीज मच्छर ही जीका वायरस का संचार करते हैं.
  • स्वच्छ पानी में उत्पन्न होने वाले एडीज मच्छरों के फैलाव को नियंत्रित करने के लिए विशेष जोर दिया जाएगा.
  • इस बारे में सामूहिक जागरुकता भी महत्वपूर्ण है.
  • समुदायों के बीच अधिक से अधिक जागरुकता पैदा किए जाने की जरूरत है.
  • जिका वायरस की रोकथाम के लिए साल के अंत तक टीका आने की संभावना है.
  • यह वायरस गर्भ में पल रहे बच्चे को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है, इसलिए गर्भवती महिलाओं को खासतौर पर सतर्कता बरतने को कहा गया है.

वायरस का फैलाव

  • इस वायरस का फैलाव पिछले वर्ष ब्राजील में शुरू हुआ.
  • यह अब तक अमेरिकी क्षेत्र में 24 देशों में फैल चुका है.
  • अल साल्वाडोर, कोलंबिया, इक्वाडोर जैसे कई अमेरिकी देशों में यह स्थिति चिंताजनक स्तर पर पहुंच गई है.
  • 40 लाख को चपेट में ले सकता है.
  • जिका वायरस, रियो ओलंपिक पर भी खतरा बना है.

आईएमए  की एडवाइजरी-

  • गर्भवती महिलाएं उन देशों की यात्रा न करें, जहां जीका वायरस की आशंका है.
  • जो महिलाएं ऐसे देश गई हैं, वे दो सप्ताह के भीतर वायरस की जांच करा लें.
  • जिनमें बुखार, रैशेज, मांसपेशियों में दर्द जैसे लक्षण हों वे भी इसकी जांच कराएं.
  • किसी क्लीनिक पर ऐसे मरीज आएं तो क्लीनिक स्वास्थ्य विभाग को सूचना दे.

भारत में खतरा क्यों?

  • जीका वायरस एडीज मच्छर से फैलता है और भारत में इन मच्छरों की भरमार है.
  • जिनसे मलेरिया होता है.
  • इस वायरस से माइक्रोसेफेली नाम की बीमारी होती है.
  • इस शब्द का अर्थ है छोटा दिमाग यानी इस बीमारी में दिमाग पूरी तरह विकसित नहीं हो पाता है.
  • गर्भ में पल रहे बच्चों को इससे सबसे ज्यादा खतरा है.

 

 

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

6 + 6 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now