भारत में प्रति वर्ष 9 लाख नवजातों (जन्म से एक महीने के बच्चे) की मौत: विश्व स्वास्थ्य संगठन

International/World Current Affairs 2011. एक वैश्विक अध्ययन के अनुसार भारत में प्रति वर्ष नौ लाख से अधिक नवजातों की जन्म से एक महीने के भीतर ही मौत हो जाती है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO: World Health Organization, डब्ल्यूएचओ) .....

Created On: Sep 1, 2011 15:20 ISTModified On: Sep 1, 2011 15:20 IST

एक वैश्विक अध्ययन के अनुसार भारत में प्रति वर्ष नौ लाख से अधिक नवजातों की जन्म से एक महीने के भीतर ही मौत हो जाती है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO: World Health Organization, डब्ल्यूएचओ), सेव द चिल्ड्रन और लंदन स्कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन द्वारा यह सर्वेक्षण किया गया.


तीनों संस्थाओं ने डब्ल्यूएचओ के सभी 193 सदस्य राष्ट्रों में पिछले 20 वर्ष के आंकड़ों के आधार पर यह अध्ययन किया. इस अध्ययन का प्रकाशन पीएलओस मेडिसिन नामक पत्रिका में अगस्त 2011 के अंतिम सप्ताह में हुआ.


अध्ययन के अनुसार, भारत में वर्ष 1990 में नवजात मृत्यु दर प्रति एक हजार जन्म पर 49 थी और देश में नवजात की मौत के 1349470 मामले दर्ज किए गए थे. वर्ष 2009 में यह दर कम होकर 34 हो गई थी जबकि नवजातों की मौत के 907820 मामले सामने आए थे.


विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO: World Health Organization, डब्ल्यूएचओ) और दो अन्य संस्थाओं के सर्वेक्षण के अनुसार विश्व में वर्ष 1990 में नवजातों की मौत के 46 लाख मामले सामने आए थे, जो वर्ष 2009 में घटकर 33 लाख रह गए थे. इनमें आधे से अधिक मौतें, भारत, नाइजीरिया, पाकिस्तान, चीन और कांगो में हुईं.


विश्व में नवजात मृत्यु दर में पिछले 20 वर्ष में 28 फीसदी की कमी आई है. लेकिन मातृत्व मृत्यु दर और एक महीने से पांच वर्ष के बच्चों की मृत्यु दर में मामूली कमी आई है. विश्व में बच्चों की मौत के कुल मामलों में नवजातों (जन्म से एक महीने के बच्चे) की संख्या 41 फीसदी रहती है.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

1 + 4 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now