राष्ट्रपति चुनाव 2012 में प्रणब मुखर्जी राष्ट्रपति निर्वाचित

India Current Affairs 2012. राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार प्रणब मुखर्जी 22 जुलाई 2012 को भारत के 14वें राष्ट्रपति निर्वाचित...

Created On: Jul 23, 2012 13:20 ISTModified On: Jul 26, 2012 13:52 IST

राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार प्रणब मुखर्जी 22 जुलाई 2012 को भारत के 14वें राष्ट्रपति निर्वाचित हुए. राष्ट्रपति चुनाव में प्रणब मुखर्जी ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार पीए संगमा को हराया. भारत के मुख्य न्यायाधीश द्वारा 25 जुलाई 2012 को संसद के सेंट्रल हॉल में प्रणब मुखर्जी को राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई जाएगी. वह राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल का स्थान लेंगे. उनका कार्यकाल 24 जुलाई 2012 को समाप्त हो रहा है.

संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (सप्रंग) का समर्थन प्राप्त प्रणब मुखर्जी को राष्ट्रपति चुनाव में 7,13,763 वोट मिले और राष्ट्रीय जनतान्त्रिक गठबन्धन (राजग) का समर्थन प्राप्त पीए संगमा को 3,15, 987 वोट मिले. कुल 748 सांसदों में से प्रणब मुखर्जी को 527 सांसदों के मत, जबकि  पीए संगमा को 206 सांसदों के मत मिले. 15 सांसदों के वोट खारिज कर दिए गए. प्रणब मुखर्जी के पक्ष में नौ और पीए संगमा के पक्ष में छह वोट खारिज हुए.

• छत्तीसगढ में प्रणब को 39 और संगमा को 50 मत मिले जबकि 10 वोट खारिज हुए.
• बिहार में प्रणब मुखर्जी को 146 और संगमा को 90 मत मिले जबकि चार वोट खारिज हुए.
• गोवा में प्रणब को 9 और संगमा को 31 वोट मिले.
• असम से प्रणब को 110 और संगमा को 13 विधायकों के मत मिले. दो मत खारिज कर दिए गए, एक विधायक ने मतदान नहीं किया.
• अरूणाचल प्रदेश से प्रणब को 59 में से 54 मत और संगमा को दो मत मिले. तीन मत खारिज हुए.
• आंध्र प्रदेश से प्रणब को 185 मतों में से 182 और भाजपा समर्थित संगमा को 3 मत मिले.
• हरियाणा में प्रणब को 53 और संगमा को 29 मत मिले जबकि आठ वोट खारिज कर ‌दिए गए.
• गुजरात में प्रणब को 59 और संगमा को 123 मत मिले.
• कर्नाटक में प्रणब को 117 और पी ए संगमा को 103 मत मिले, जबकि तीन मत खारिज कर ‌दिए गए.
• केरल में प्रणब को 124 और संगमा को शून्य मत मिले जबकि एक मत खारिज कर दिया गया.
• हिमाचल प्रदेश में प्रणब को 23 और संगमा को 44 मत मिले जबकि एक वोट खारिज कर दिया गया.
• जम्मू कश्मीर में संप्रग उम्मीदवार प्रणब को 68 और संगमा को 15 मत मिले.
• झारखंड में प्रणब मुखर्जी को 60 और संगमा को 20 मत मिले.
• उत्तर प्रदेश में प्रणब मुखर्जी को 351 मत और पीए संगमा को 46 मत मिले.
• नई दिल्ली में प्रणब मुखर्जी को 42 मत और पीए संगमा को 23 मत मिले.

प्रत्येक सांसद के एक मत का मान 708 होता है. संसद के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा में 776 मत होते हैं. राज्यों के 4120 विधायकों के मतों को भी राष्ट्रपति चुनाव में शामिल किया जाता है. भारत के चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव 2012 की अधिसूचना 16 जून 2012 को जारी की. राष्ट्रपति चुनाव में नामांकन करने की अंतिम तिथि 30 जून 2012 थी. 19 जुलाई 2012 को चुनाव संपन्न हुए.

प्रणब मुखर्जी संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (सप्रंग) सरकार में 3 अगस्त 2009 से 26 जून 2012 तक केंद्रीय वित्तमंत्री रहे. उन्होंने 28 जून 2012 को राष्ट्पति पद के लिए नामांकन किया था. प्रणब मुखर्जी व्यक्ति के रूप में 13वें और राष्ट्रपति क्रम में 14वें राष्ट्रपति निर्वाचित हुए है.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

2 + 1 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now