29वां सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेला संपन्न

29वां सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेला 1 फरवरी 2015 से 15 फरवरी 2015 तक सूरजकुंड, फरीदाबाद (हरियाणा) में मनाया गया.

Created On: Feb 23, 2015 19:05 ISTModified On: Feb 23, 2015 19:11 IST

29वां सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेला 1 फरवरी 2015 से 15 फरवरी 2015 तक सूरजकुंड, फरीदाबाद (हरियाणा) में मनाया गया. यह मेला संयुक्त रूप से हरियाणा पर्यटन निगम, सूरजकुंड मेला प्राधिकरण एवं पर्यटन, कपड़ा, संस्कृति और केन्द्रीय विदेश मंत्रालय के सहयोग से आयोजित किया गया.

29वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेले में छत्तीसगढ़ को थीम राज्य के रूप में चुना गया था जबकि लेबनान साथी राष्ट्र के रूप में शामिल हुआ. श्रीलंका 28वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेला-2014 के लिए साथी राष्ट्र के रूप में चुना गया था.

सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेले में वर्ष 2009 में पहली बार मिस्र को एक केन्द्रित राष्ट्र के रूप में शामिल किया गया था जबकि वर्ष 2012 में पहली बार थाईलैंड को साथी राष्ट्र के रूप में शामिल किया गया.

विदित हो कि हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने 29वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेले के समापन समारोह में 24 शिल्पकारों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया. इन्हें कलाश्री, कला निधि, कलामणि, परंपरागत और कला रत्न पुरस्कार दिया गया. कला श्री पुरस्कार में कलाकारों को स्मृति चिह्न, 2100 रुपए और प्रमाण पत्र दिया गया. इसमें छत्तीसगढ की सीमा को गोधना सिल्क, दिल्ली के जयराम सोलंकी को ढोकरा, आंध्रप्रदेश के चान चैय को लकड़ी के खिलौने, गुजरात के जान मोहम्मद को ब्रास बेल और बिहार के कामिनी कौशल को पेपर मैसी के लिए दिया गया. कला निधि पुरस्कार में कलाकारों को स्मृति चिह्न, 5100 रुपए और प्रमाण पत्र दिया गया. इनमें छत्तीसगढ़ के रविन्द्र को बैल मेटल, मध्यप्रदेश के अब्दुल कादर खत्री को बाग प्रिंट, गुजरात के बेंकर दिवजी प्रेमजी को गर्म शाल, तमिलनाडु केपी शंगाटू वेल को वुड कार्विंग, पं. बंगाल के भांटू चित्रकार पटाचित्रा पेंटिंग और बिहार के बाना देवी को मिथला पेटिंग के लिए पुरस्कार प्रदान किया गया.

कलामणि पुरस्कार में कलाकारों को स्मृति चिह्न, 11 हजार रुपए और प्रमाण पत्र दिया गया. इसमें तेलंगाना के ईदम श्रीनाथ को टाई व डाई, हिमाचल प्रदेश के अंशुल मल्होत्रा को शाल, उत्तरप्रदेश के मोहन वर्मा को सांझी पेपर कटिंग, उड़ीसा के निरंजन मोहराना को पटाचित्रा पेंटिंग, गुजरात के बसंत मानुभाई चिंतारा को कलमकारी, हरियाणा की निशा को मार्बल स्टोन, कर्नाटक के ईश्वर नायक को चित्र पेंटिंग, उड़ीसा के हरिशंकर मेहर को बेडशीट, गुजरात के पंकज भाई डी मकवाना को पटोला साड़ी, सीरिया के फोद अरबाक को बुड मोसेक और सीरिया के अहमद रातिब दादी को हैंडमेड ब्रास के लिए पुरस्कार प्रदान किए गए. परंपरागत पुरस्कार दिल्ली के मोहम्मद मतलूव को मिला. उन्हें पुरस्कार स्वरूप स्मृति चिह्न, 11 हजार रुपए और प्रमाण पत्र दिया गया. कला रत्न पुरस्कार के तहत अफगानिस्तान के मोहम्मद इशाक तिमोरजादा को स्मृति चिन्ह, 11000 रुपए और प्रमाण पत्र दिया गया.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Post Comment

5 + 3 =
Post

Comments

    Whatsapp IconGet Updates

    Just Now