15 लाख कक्षाओं को डिजिटल बनाया जायेगा: प्रकाश जावड़ेकर

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर द्वारा 23 सितंबर 2018 को राजस्थान मं  एक कार्यक्रम में घोषणा की गई कि कक्षाओं को डिजिटल बनाए जाने के लिए राष्ट्रव्यापी प्रयास आरंभ किये गये हैं.

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ‘ऑपरेशन डिजिटल बोर्ड’ के तहत नौवीं से स्नातकोत्तर तक की 15 लाख कक्षाओं को डिजिटल कक्षा का रूप दिया जाएगा. इससे शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होगा और आमूल चूल परिवर्तन आएगा.

ऑपरेशन डिजिटल बोर्ड

•    ऑपरेशन डिजिटल बोर्ड के तहत सभी स्कूलों में अब सफेद ब्लैक बोर्ड लगाए जाएंगे. यह योजना पांच वर्षों में पूरी तरह लागू की जाएगी.

•    इससे देश में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने में मदद मिलेगी.

•    इस योजना को केंद्र राज्य और नागरिक समुदाय तथा कार्पोरेट सामाजिक दायित्व से लागू किया जाएगा.

•    डिजिटल बोर्ड की कीमत में कमी लाने के प्रयास भी किये जायेंगे. महाराष्ट्र नागरिक सामुदाय ने छह जिलों में 300 करोड़ रुपए स्कूलों के लिए एकत्र किए हैं. यह उपक्रम सभी राज्यों में शुरू किया गया है.

पृष्ठभूमि

इससे पूर्व भारत में ऑपरेशन ब्लैकबोर्ड चलाया गया था जिसे 1987 में आरंभ किया गया था. इस योजना का उद्देश्य प्राथमिक कक्षा में पढ़ने वाले बच्चों की सुविधा के लिए आवश्यक संस्थागत उपकरण एवं सामग्रियां प्रदान करना निर्धारित किया गया है. इस योजना में उस स्कूलों में अतिरिक्त शिक्षक के लिए वेतन का प्रावधान है जहां लगातार दो वर्षों तक 100 से अधिक नामांकन आये हों. इस योजना को नौंवी पंचवर्षीय योजना के दौरान लागू किया गया था.

 

यह भी पढ़ें: वैज्ञानिकों ने प्रयोगशाला में ग्रास नली विकसित करने में सफलता प्राप्त की

 
Advertisement

Related Categories