Advertisement

अनुकृति वास ने जीता मिस इंडिया 2018 का खिताब

तमिलनाडु की अनुकृति वास ने 19 जून 2018 को ‘फेमिना मिस इंडिया 2018’ का खिताब जीता. अनुकृति वास ने 29 प्रतियोगियों को हरा कर इस खिताब को जीता. इस प्रतियोगिता में मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर ने अनुकृति वास को ताज पहनाया. अनुकृति वास इससे पहले मिस तमिलनाडू 2018 का खिताब जीता था.

मुंबई में आयोजित हुए इस कॉन्टेस्ट में हरियाणा की रहने वाली मीनाक्षी चौधरी फर्स्ट रनर-अप बनीं और सेकेंड रनर-अप आंध्र प्रदेश की रहने वाली श्रेया राव बनीं. वहीं दिल्ली की रहने वाली गायत्री भारद्वाज, झारखंड की रहने वाली स्टेफी पटेल टॉप 5 में शामिल थीं.

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व:

मिस इंडिया की विजेता अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी. कांटेस्ट की दोनों रनरअप भी मिस ग्रैंड इंटरनेशनल 2018 और मिस यूनाइटेड कॉन्टिनेंट्स 2018 में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी. इससे पहले मिस इंडिया 2017 की विजेता मानुषी छिल्लर मिस वर्ल्ड का ताज जीत चुकी हैं. प्रियंका चोपड़ा के ताज जीतने के 17 साल बाद किसी भारतीय ने यह उपलब्धि हासिल किया था.

इस समारोह के जज पैनल में बॉलीवुड अभिनेत्री मलाइका अरोड़ा, अभिनेता बॉबी देओल, कुनाल कपूर, क्रिकेटर इरफान पठान और के.एल राहुल शामिल थे.

अनुकृति वास:

•    अनुकृति वास तमिलनाडु की रहने वाली हैं.

•    अनुकृति वास पेशे से खिलाड़ी और डांसर हैं.

•    अनुकृति वास फिलहाल फ्रेंच भाषा में बीए कर रही हैं.

•    उन्हें संगीत और नृत्य पसंद है और राज्य स्तर पर खेल प्रतिस्पर्धाओं में भी हिस्सा ले चुकी हैं.

•    वे एक सफल सुपर मॉडल बनना चाहती हैं.

•    मॉडलिंग और एक्टिंग में दिलचस्पी रखने वाली अनुकृति अंतरराष्ट्रीय ब्यूटी प्रतियोगिताओं में भी भारत का प्रतिनिधित्व करना चाहती हैं.

फेमिना मिस इंडिया:

मिस इंडिया अथवा फेमिना मिस इंडिया भारत का राष्ट्रीय सौन्दर्यता पिगेंट है जो वर्ष में एकबार होता है. इसमे विजेता बनने के पश्चात ही भारतीय सुन्दरी को अन्तर्राष्ट्रीय सौन्दर्य प्रतियोगिता मे भाग लेने की अनुमति दी जाती है. विजेता को ब्रह्माण्ड सुन्दरी प्रतियोगिता, उपविजेता को विश्व सुन्दरी प्रतियोगिता में भाग लेने की अनुमति मिलती है.

यह भी पढ़ें: कैलाश सत्यार्थी और किरण कुमार ‘संतोकबा ह्यूमैनेटेरियन अवार्ड’ से सम्मानित

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement