पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का निधन

भारत के पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता अरुण जेटली का 24 अगस्त 2019 को निधन हो गया. वे 9 अगस्‍त से दिल्‍ली स्थित एम्‍स में भर्ती थे. एम्‍स की ओर से जारी की गई प्रेस रिलीज के अनुसार अरुण जेटली का निधन शनिवार को दोपहर 12:07 बजे हुआ है. उन्हें पिछले कुछ दिनों से लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था. अरुण जेटली को सांस लेने में तकलीफ के चलते एम्‍स में भर्ती कराया गया था. वे 66 वर्ष के थे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरुण जेटली के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि अरुण जेटली का राष्‍ट्र निर्माण में अहम योगदान है. मैंने उनके रूप में दोस्‍त को खो दिया है. अरुण जेटली जी राजनीतिक दिग्‍गज थे. उनके अलावा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, गृह मंत्री अमित शाह तथा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी शोक व्यक्त किया है. उप राष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू भी आंध्र प्रदेश के दौरे को रद्द करके दिल्‍ली लौट रहे हैं.

अरुण जेटली के बारे में

• अरुण जेटली का जन्मत 28 दिसंबर, 1952 को हुआ था. अरुण जेटली ने नई दिल्ली के सेंट जेवियर्स स्कूल से 1957-69 तक पढ़ाई की.
• उन्हों5ने दिल्लीत यूनिवर्सिटी से 1977 में लॉ की पढ़ाई पूरी की. इस दौरान वे एबीवीपी में सक्रिय छात्रनेता भी रहे.
• वर्ष 1973 में वह जयप्रकाश नारायण और राजनारायण द्वारा चलाए जा रहे भ्रष्टारचार विरोधी आंदोलन में भी सक्रिय रहे और आगे चलकर वे जन संघ पार्टी में शामिल हुए.
• वे 1989 में वीपी सिंह की सरकार में एडिशनल सॉलिसिटर जनरल नियुक्तु किए गए. इसके बाद वे 1991 से बीजेपी की राष्ट्री य कार्यकारिणी के सदस्य  रहे.
• 1999 में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वह सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री (स्वीतंत्र प्रभार) बनाए गए. इस सरकार में वह कानून मंत्री भी रहे.
• मार्च 2018 में उन्हेंप उत्तमर प्रदेश से राज्यासभा सदस्यी चुना गया. वे 2014 में मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान वित्त मंत्री रहे तथा उन्होंने नोटबंदी व जीएसटी जैसे अहम फैसले लिए थे.

Download our Current Affairs & GK app for Competitive exam preparation. Click here for latest Current Affairs: Android|IOS

Related Categories

Popular

View More