Advertisement

अरुणाचल प्रदेश विधानसभा ने तीन नये जिलों के निर्माण हेतु विधेयक पारित किया

अरुणाचल प्रदेश विधानसभा ने 29 अगस्त 2018 को राज्य में तीन नये जिलों के निर्माण हेतु विधेयक को मंजूरी प्रदान की. इन नये जिलों के नाम हैं पाक्के केसांग, लेपा रादा और शि-योमी.

अरुणाचल प्रदेश के उपमुख्यमंत्री चोवना मेन ने विधानसभा में अरुणाचल प्रदेश जिला पुनः संगठन (संशोधन) विधेयक 2018 सदन में रखा था. विधानसभा ने इसे ध्वनि मत से पारित कर दिया. फिलहाल अरुणाचल प्रदेश में 22 जिले हैं.

अरुणाचल प्रदेश के नये जिले

•    पाक्के केसांग जिले का मुख्यालय लेम्मी में होगा. यह जिला पूर्व कामेंग जिले से निकालकर पांच प्रशासनिक इकाइयों के साथ बनाया जाएगा.

•    लेपा राडा जिले का मुख्यालय बसार में होगा. यह जिला लोअर सियांग जिले से पांच प्रशासनिक इकाइयों के साथ बांटकर बनाया जाएगा.

•    शि-योमी जिला पश्चिम सियांग जिले से पृथक कर के बनाया गया है. इसका मुख्यालय टैटो में होगा. इस जिले में चार प्रशासनिक इकाइयां होंगी.

•    फिलाहल अरुणाचल प्रदेश में 22 जिले हैं.

नये जिले क्यों?


अरुणाचल प्रदेश में नये जिलों के निर्माण को लेकर मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने कहा कि नये जिलों का निर्माण इसलिए आवश्यक है क्योंकि लोगों की बढ़ती मांगें और उन तक प्रशासन की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए नये जिलों को बनाया जाना जरुरी हो गया है.
इससे पहले, उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रारंभिक पांच जिलों से नए जिलों का निर्माण लोगों की आवश्यकता के अनुसार किया जा रहा है और राज्य के सभी हिस्सों में समान रूप से विकास कार्यों को पहुंचाने के लिए इन्हें बनाया जा रहा है.

स्वतंत्रता के बाद बनाये गये राज्य हैं – हिमाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, मिज़ोरम, छत्तीसगढ़, झारखंड, उत्तराखंड और तेलंगाना.

 

यह भी पढ़ें: अगस्त 2018 के 30 महत्वपूर्ण करेंट अफेयर्स घटनाक्रम

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement