Jagranjosh Education Awards 2021: Click here if you missed it!
Next

Axis Bank Theft: क्या है करेंसी चेस्ट, जानें इसके बारे में सबकुछ

चंडीगढ़ के सेक्टर-34 स्थित एक्सिस बैंक में 4 करोड़ चार लाख रुपये की चोरी कर भागने वाले सिक्योरिटी गार्ड को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. एक्सिस बैंक में एक ट्रंक में पड़े कैश को सिक्योरिटी गार्ड चोरी कर फरार हो गया था.

चंडीगढ़ में एक्सिस बैंक की करेंसी चेस्ट से एक प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड ने 4.04 करोड़ रुपये लूट लिए है. इसके चलते करेंसी चेस्ट सुर्खियों में आ गया है. एक्सिस बैंक भारत में निजी और कॉर्पोरेट बैंकिंग के लिए वित्तीय सेवाओं की पेशकश करने वाली तीसरी सबसे बडी निजी क्षेत्र की बैंक हैं.

करेंसी चेस्ट क्या है?

करेंसी चेस्ट ऐसी जगहें हैं जहां भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) बैंकों और एटीएम के लिए भेजे जाने वाले पैसे को रखता है. करेंसी चेस्ट विभिन्न बैंकों में स्थित हैं और भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा प्रशासित हैं.

देशभर में करेंसी के संचार को बनाए रखने के लिए मौजूदा समय में रिजर्व बैंक के पास लगभग 4211 करेंसी चेस्ट हैं. इसके अलावा सिक्कों का संचालन करने के लिए उसके पास 3990 डिपो हैं. ये चेस्ट देशभर में फैले हुए हैं क्योंकि संचार के साथ-साथ इन खजानों में किसी भी सामान्य बैंक में जमा कराए गए रुपयों (कैश रिजर्व रेशियो) को भी रखा जाता है.

आरबीआई के प्रतिनिधि समय-समय पर इन करेंसी चेस्ट का निरीक्षण करते हैं. ये करेंसी चेस्ट पूरे देश में बैंकों में रखे गए हैं. करेंसी चेस्ट में पैसा आरबीआई का है और स्ट्रांग रूम में करेंसी चेस्ट के बाहर रखा पैसा बैंक का है.

करेंसी चेस्ट शाखाएं आरबीआई की तरफ से अधिकृत ऐसी चुनिंदा शाखाएं होती हैं जिन्हें नोटों और सिक्कों के वितरण का काम करने का अधिकार प्राप्त है. इन सभी शाखाओं में नोटों और सिक्कों का जमाव आरबीआई के आदेश के आधार पर किया जाता है. इन शाखाओं को अन्य क्षेत्रों में परिचालन कर रही शाखाओं तक नोटों और सिक्कों का बंटवारा करना होता है.

नकदी की सुरक्षा करना बैंकों की एकमात्र जिम्मेदारी

आरबीआई बैंक को सुरक्षा खर्चों की प्रतिपूर्ति करता है. इस प्रतिपूर्ति में एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसे का परिवहन भी शामिल है. नकदी की सुरक्षा करना बैंकों की एकमात्र जिम्मेदारी है.

करेंसी चेस्ट को देशभर में स्थापित

करेंसी चेस्ट को देशभर में स्थापित करने के लिए रिजर्व बैंक प्रमुख सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का सहयोग लेता है. इसके अलावा इस काम में 6 सहयोगी बैंकों, सभी नैशनलाइज्ड बैंक, प्राइवेट सेक्टर के कुछ चुने हुए बैंक, 1 विदेशी बैंक, 1 कोऑपरेटिव बैंक और ग्रामीण बैंक को भी शामिल किया जाता है.

Related Categories

Also Read +
x

Live users reading now