Jagranjosh Education Awards 2021: Click here if you missed it!
Next

कैबिनेट ने जम्मू कश्मीर में 850 मेगावाट के रेटले पावर प्रोजेक्ट को मंजूरी दी

केंद्रीय कैबिनेट ने 20 जनवरी 2021 को जम्मू कश्मीर में 850 मेगावाट के रेटले पावर प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी है. इस पावर प्रोजेक्ट को अगले पांच सालों में कमीशन किया जाएगा. जम्मू कश्मीर में प्रदेश के एलजी मनोज सिन्हा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट ने जम्मू कश्मीर में 850 मेगावाट के रेटले पावर प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी है.

यह जम्मू कश्मीर को बिजली क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए यह बड़ा कदम है. 850 मेगावाट की इस परियोजना पर 5281.94 करोड़ रुपये का निवेश होगा. इसे नेशनल हाइड्रो पावर कारपोरेशन (एनएचपीसी) और जम्मू कश्मीर स्टेट पावर डेवलपमेंट कारपोरेशन (जेकेपीडीसी) की तरफ से संयुक्त रूप से बनाया जा रहा है. इसमें एनएचपीसी की 51 प्रतिशत और जेकेपीडीसी की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी है.

परियोजना पांच साल में बनकर तैयार

केंद्र सरकार जेकेपीडीसी की हिस्सेदारी के 776.44 करोड़ रुपये का सहयोग भी देगी. यह महत्वपूर्ण परियोजना पांच साल में बनकर तैयार हो जाएगी.

जम्मू कश्मीर के 4000 लोगों को रोजगार

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि परियोजना के बन जाने से जम्मू कश्मीर में बिजली की सप्लाई को सुचारू बनाने में मदद मिलेगी. सीधे और अप्रत्यक्ष रूप से जम्मू कश्मीर के चार हजार लोगों को रोजगार मिलेगा.

परियोजनाओं पर 52821 करोड़ का निवेश

उपराज्यपाल ने कहा कि पिछले दिनों पन बिजली की चार परियोजनाओं को लेकर एमओयू पर हस्ताक्षर हुए थे. उन पर 31 हजार करोड़ का निवेश होना है. इन चारों के अतिरिक्त पक्कलदुल और कीरू प्रोजेक्ट को मिलाकर सभी पन बिजली परियोजनाओं पर 52821 करोड़ का निवेश होगा. इसमें स्थानीय युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए प्रशिक्षण भी दिया जाएगा.

एक प्रतिशत बिजली निशुल्क

जम्मू कश्मीर में साल 1947 से लेकर साल 2018 तक 3500 मेगावट बिजली का उत्पादन हो रहा था और अगले चार साल में यह उत्पादन 6300 मेगावाट हो जाएगा. रेटले पहली पन बिजली परियोजना होगी, जिसके पूरा होते ही जम्मू कश्मीर को एक प्रतिशत बिजली निशुल्क मिलेगी और उसके बाद यह बढ़ती जाएगी. बारहवें साल में यह 12 प्रतिशत हो जाएगी.

चालीस साल बाद परियोजना जम्मू कश्मीर की हो जाएगी तथा 40 साल में पानी के इस्तेमाल के लिए 9581 करोड़ रुपये भी मिलेंगे. जम्मू कश्मीर को 5289 करोड़ की निशुल्क बिजली भी हासिल होगी.

Related Categories

Also Read +
x

Live users reading now