कोरोना वायरस से प्रभावित लेनदारों की मदद हेतु आगे आया केनरा बैंक, जानें विस्तार से

सार्वजनिक क्षेत्र के केनरा बैंक ने कोरोना वायरस (कोविड-19) से प्रभावित अपने सभी लेनदारों को ऋण सहायता उपलब्ध कराने की घोषणा की है. केनरा बैंक ने इस संबंध में बयान जारी कर कहा है कि केनरा बैंक क्रेडिट सपोर्ट (Canara Bank Credit Support) नकदी की तात्कालिक दिक्कतों से जूझ रहे लेनदारों को त्वरित तरीके से और बिना किसी दिक्कत के लोन उपलब्ध कराने वाली योजना है.

केनरा बैंक ने कोरोना वायरस से प्रभावित कर्जदारों को केनरा क्रेडिट सपोर्ट के जरिए क्विक लोन मुहैया करायेगा ताकि उन्हें लिक्विडिटी सपोर्ट मिल सके. इससे वे अपने जरूरी बकाया, बिल या किराये का भुगतान कर सकेंगे. केनरा बैंक ने एक बयान जारी कर इस बारे में जानकारी दी है.

केनरा बैंक ने जारी किया इतने रुपये

केनरा बैंक ने बताया कि उसने अभी तक कृषि, स्व-सहायता समूह और रिटेल कैटेगरी के तहत 4,300 करोड़ रुपये का लोन जारी कर दिया है. केनरा बैंक ने बताया कि उसने मार्च 2020 से लेकर अब कॉरपोरेट्स और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (MSME) को 60,000 करोड़ रुपये का लोन जारी किया है. केनरा बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने कहा कि हम निश्चिंत है कि जब एक बार लॉकडाउन खत्म हो जाएगा, तब हमारे ग्राहक पूरी तरह से लोन सुविधा का लाभ ले सकेंगे. उन्हें इससे अपने कारोबार को बढ़ाने में मदद मिलेगी.

योजना का लाभ 30 जून 2020 तक

केनरा बैंक के इस योजना के तहत कर्जदारों अपने कार्यशील पूंजी के 10 प्रतिशत या 150 करोड़ रुपये तक का लोन ले सकते हैं. यह सुविधा रिटेल ग्राहकों के लिए भी उपलब्ध होगी. एमएसएमई को इस लोन के लिए ​रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट + 0.75 प्रतिशत की दर से ब्याज देना होगा. इस योजना का लाभ 30 जून 2020 तक​ लिया जा सकता है.

केनरा बैंक

केनरा बैंक भारत की एक प्रमुख वाणिज्यिक बैंक है. भारत में इसकी स्थापना 1906 में की गयी थी. यह भारत के सबसे पुराने भारतीय बैंकों में से एक है. साल 2013 तक केनरा बैंक की भारत और अन्य देशों में 3600 से अधिक शाखायें थीं. इसका मुख्य कार्यालय बेंगलुरु में स्थित है. बता दें कि बीते 1 अप्रैल को सिंडिकेट और कैनरा बैंक का विलय हुआ था.

केनरा बैंक, विदेशी मुद्रा व्यापार करने के लिए आवश्यक बल देने के विशेष रूप से निर्यात और अनिवासी भारतीयों की जरूरतों को पूरा करने के लिए इसके विभिन्न विदेशी विभागों के कामकाज की निगरानी के लिए साल 1976 में अपने अंतर्राष्ट्रीय प्रभाग की स्थापना की. हाल ही में कैनरा बैंक ने एक स्‍पेशल गोल्‍ड लोन की शुरुआत की है. इसमें गोल्‍ड गिरवी रखने पर लोन दिया जाएगा.

Related Categories

NEXT STORY
Also Read +
x