Advertisement

छत्तीसगढ़ मंत्रिमंडल ने नया रायपुर का नाम ‘अटल नगर’ रखने की मंजूरी दी

छत्तीसगढ़ सरकार ने 21 अगस्त 2018 को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की याद में नया रायपुर शहर का नाम ‘अटल नगर’ करने का फैसला किया है.

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का 16 अगस्त 2018 को दिल्ली के एम्स में शाम 05 बजकर 05 मिनट पर निधन हो गया था. उनका अंतिम संस्कार समारोह 17 अगस्त को दिल्ली के स्मृति स्थल पर पूर्ण राज्य सम्मान के साथ आयोजित किया गया था.

इस समारोह में भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधान मंत्री, मुख्य मंत्री और कई राज्यों के गवर्नर और भूटान के राजा और अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करज़ई समेत कई विदेश मंत्रियों समेत कई विदेशी नेताओं ने भाग लिया.

                          नामकरण क्यों किया गया?

राज्य निर्माण में अटल बिहारी वाजपेयी के ऐतिहासिक योगदान को देखते हुए नया रायपुर का नामकरण ‘अटल नगर’ किया गया. वहां अटल बिहारी वाजपेयी की मूर्ति स्थापित की जाएगी और वहां सेंट्रल पार्क का नामकरण भी उनके नाम पर किया जाएगा.

 

मुख्य तथ्य:

•    नया रायपुर में अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा स्थापित की जाएगी तथा राज्य के सभी 27 जिला मुख्यालयों में अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा लगायी जाएगी.

•    छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य की नई राजधानी में पांच एकड़ के क्षेत्र में एक ‘अटल मेमोरियल’ विकसित करने का फैसला किया है.

•    अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर बिलासपुर विश्वविद्यालय और राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज का नामकरण किया जायेगा.

•    राष्ट्रीय स्तर के कवियों के लिए वाजपेयी के नाम पर राष्ट्रीय पुरस्कार की स्थापना किया जायेगा.

•    प्रदेश सरकार के द्वितीय चरण की विकास यात्रा को अटल विकास यात्रा के नाम से आयोजित करने का भी निर्णय हुआ है.

•    कैबिनेट के निर्णय के अनुसार मड़वा ताप बिजली संयंत्र और राजधानी रायपुर में पूर्ववर्ती नेरोगेज पर बन रहे एक्सप्रेसवे कलेक्टोरेट के बगीचे का नामकरण भी स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर किया जाएगा.

•    छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस (राज्योत्सव) के अवसर पर 01 नवम्बर को त्रिस्तरीय पंचायतों और नगरीय निकायों के लिए अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन पुरस्कार की शुरूआत की जाएगी.

•    अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन पुरस्कार प्रत्येक जनपद पंचायत से एक ग्राम पंचायत को और प्रत्येक राजस्व संभाग से एक जनपद पंचायत, एक नगर पंचायत और एक नगर पालिका और प्रदेश स्तर पर एक जिला पंचायत और एक नगर निगम को दिया जाएगा.

•    छत्तीसगढ़ बोर्ड की पाठ्य पुस्तकों में अटल बिहारी वाजपेयी की जीवनी शामिल की जाएगी ताकि नई पीढ़ी को प्रेरणा मिल सके.

बटालियन का नामकरण:

अटल बिहारी वाजपेयी ने पोखरण में ऐतिहासिक परमाणु परीक्षण करवाया था. उनके इस योगदान को यादगार बनाने के लिए छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल की एक बटालियन का नामकरण पोखरण बटालियन किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन: सात दिन का राजकीय शोक

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement