Advertisement

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड पर जुर्माना लगाया

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआइ) ने 29 नवम्बर 2017 को इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) के मीडिया अधिकार के मामले में प्रतिस्पर्धा रोधी गतिविधियों के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) पर 52 करोड़ 24 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. इसके मद्देनजर भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) का कहना है कि क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड प्रतिस्पर्धा अधिनियम, 2002 की धारा 4 (1) और धारा 4 (2) (सी) का उल्लंघन कर रहा है.

यह भी पढ़ें: रितु फोगाट ने अंडर-23 विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में रजत पदक जीता

सीसीआई के महानिदेशक द्वारा की गयी विस्तृत जांच में पता लगा है कि बीसीसीआई भारत में व्यावसायिक घरेलू क्रिकेट लीग या खेलों के क्षेत्र में दबदबा रखता है. उसकी गतिविधियों को देखते हुए उसके ऊपर अधिनियम के प्रावधान लागू होते हैं.

खेल परिसंघों की भूमिका को देखते हुए और देश में खेलों के विकास के लिए उपरोक्त बाध्यता क्रिकेट के हित में नहीं है. इसके अलावा बाध्यता इसलिए लगाई गयी ताकि आईपीएल के प्रसारण अधिकारों के संबंध में बोली लगाने वालों के व्यापार हितों को बढ़ावा मिले. इसलिए पाया गया है कि इसमें प्रतिस्पर्धा अधिनियम, 2002 की धारा 4 (1) और धारा 4 (2) (सी) का उल्लंघन हो रहा है.

सीसीआई ने 44 पन्ने के अपने आदेश में कहा है कि 52 करोड़ 24 लाख रुपये का जुर्माना पिछले तीन वित्त वर्ष में बीसीसीआई के संबंधित टर्नओवर का लगभग 4.48 प्रतिशत है. बीसीसीआई की तीन वित्त वर्षों 2013-14, 2014-15 और 2015-16 में औसत कमाई 1164.7 करोड़ रुपये रही है.

सीसीआई द्वारा दिए गए निर्देश:

  • बीसीसीआई अधिनियम की धारा 4 का उल्लंघन करने वाली गतिविधियां नहीं करेगा.
  • बीसीसीआई गैर-सदस्यों द्वारा व्यावसायिक घरेलू क्रिकेट लीग या प्रतियोगिताओं के आयोजन के लिए बाध्यता नहीं लगायेगा. हालांकि, बीसीसीआई खेल के हित को ध्यान में रखते हुए नियम बनाने और उन्हें दुरूस्त करने का अधिकार रखेगा.
  • बीसीसीआई भारत में व्यावसायिक घरेलू क्रिकेट लीग या प्रतियोगिताओं के आयोजन हेतु लागू नियमों के मद्देनजर उचित स्पष्टीकरण जारी करेगा.   
  • बीसीसीआई आयोग द्वारा दिए जाने वाले सभी निर्देशों के संबंध में 60 दिन के भीतर अपनी रिपोर्ट पेश करेगा.

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग:

  • भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग भारत की एक विनियामक संस्था है.
  • केन्द्र सरकार द्वारा 14 अक्टूबर 2003 को भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) की स्थापना की गई.
  • इसका उद्देश्य स्वच्छ प्रतिस्पर्धा को बढावा देना है ताकि बाजार उपभोक्ताओं के हित का साधन बनाया जा सके.

पृष्ठभूमि:

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड पर प्रतिस्पर्धा विरोधी रवैये के कारण 52.24 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया है. इससे पहले फरवरी 2013 में भी सीसीआइ ने बीसीसीआइ पर इतना ही जुर्माना लगाया था, लेकिन बीसीसीआइ के अपील करने पर अपील पंचाट ने इसे खारिज कर दिया था. पंचाट ने फरवरी 2015 में आदेश को रद्द कर दिया था. इसके बाद नियामक ने अपनी जांच इकाई के महानिदेशक को आगे की जांच करने को कहा था. महानिदेशक ने अपनी पूरक जांच रिपोर्ट मार्च 2016 में दायर की थी.

गोपी थोनाकाल ने एशियन मैराथन चैंपियनशिप ख़िताब जीता

स्रोत (पीआईबी)

Advertisement

Related Categories

Advertisement