डेली करेंट अफेयर्स डाइजेस्ट: 18 नवंबर 2019

प्रतिदिन के करेंट अफेयर्स से सम्बंधित जानकारी को संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत किया गया है. इसमें आज बैलेस्टिक मिसाइल अग्नि-2 और वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा से संबंधित जानकारी संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत किया गया है.

भारत ने अग्नि-2 का सफल परीक्षण किया

भारत ने 16 नवंबर 2019 को मध्यम दूरी के बैलेस्टिक मिसाइल अग्नि-2 का सफल परीक्षण किया है. इस मिसाइल का सफल परीक्षण ओडिशा के बालासोर से किया गया. यह परीक्षण इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि भारत ने पहली बार इस मिसाइल का रात में परीक्षण किया है.

इस मिसाइल की मारक क्षमता 2000 किलोमीटर तक है. यह मिसाइल 20 मीटर लंबी होती है तथा यह 1000 किलो तक का वजन ले जाने में सक्षम है. इस मिसाइल को डीआरडीओ की एडवांस्ड सिस्टम्स लेबोरेटरी ने तैयार किया है. इस मिसाइल को इंटीग्रेटेड गाइडेड मिसाइल डेवलपमेंट प्रोग्राम के अंतर्गत बनाया गया है.

अमेरिकी सीनेट ने सर्वसम्मति से सिख समुदाय के सम्मान में प्रस्ताव पारित किया

अमेरिकी सीनेट ने हाल ही में सर्वसम्मति से सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के 550वें जन्मदिन के ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व को मान्यता देते हुए एक प्रस्ताव पारित किया है. सिखों का अमेरिका के विकास में अहम योगदान है. यह प्रस्ताव मुख्य रूप से इसको लेकर ही सीनेट की ओर से पारित किया गया है.

सीनेट के प्रस्ताव में अमेरिका में उनके योगदान हेतु चार प्रतिष्ठित सिखों का भी उल्लेख किया गया है. यह सिख धर्म पर अपनी तरह का पहला प्रस्ताव है जो अमेरिकी सीनेट ने पहले सिख गुरु की 550वीं जयंती पर पारित किया है.

रजत शर्मा ने डीडीसीए के अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा

वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने 16 नवंबर 2019 को दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. रजत शर्मा ने तत्काल प्रभाव से अपना पद छोड़ दिया है. डीडीसीए ने रजत शर्मा के इस्तीफे की जानकारी ट्विटर पर दी है.

रजत शर्मा ने डीडीसीए के अध्यक्ष रहते दिल्ली के फिरोजशाह कोटला का नाम बदलकर ‘अरुण जेटली स्टेडियम’ रखने का प्रस्ताव दिया था, जिसे मंजूरी मिली. प्रसिद्ध पत्रकार रजत शर्मा को जुलाई 2018 में डीडीसीए का अध्यक्ष चुना गया था. रजत शर्मा ने इस रेस में पूर्व क्रिकेटर मदनलाल को पीछे छोड़ा था.

दार्जिलिंग ग्रीन और व्हाइट टी को जीआई टैग मिला

दार्जिलिंग टी एसोसिएशन ने 16 नवंबर 2019 को कहा कि उसके पहाड़ी क्षेत्र की ‘ग्रीन’ और ‘व्हाइट’ चाय को भौगोलिक संकेत (जीआई) उत्पादों के रूप में पंजीकृत किया गया है. दार्जिलिंग चाय की इन दो किस्मों को भौगोलिक संकेत (माल पंजीकरण और संरक्षण) अधिनियम 1999 के अंतर्गत पंजीकृत किया गया है. यह अक्टूबर 2019 से प्रभावी हो गया है.

यह 'दार्जिलिंग चाय के बौद्धिक संपदा अधिकारों की सुरक्षा को और मजबूत करेगा. दार्जिलिंग चाय के कुल 85 लाख किलोग्राम के वार्षिक उत्पादन में से ‘ग्रीन’ टी का उत्पादन दस लाख किलो तथा ‘व्हाइट’ टी का एक लाख किलोग्राम उत्पादन है.

जस्टिस आर. भानुमति सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम में शामिल हुईं

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के सेवानिवृत्ति के बाद अब जस्टिस आर. भानुमति कॉलेजियम का हिस्सा बन गई हैं. जस्टिस आर. भानुमति बीते 13 सालों में पहली महिला जस्टिस हैं जो कॉलेजियम का हिस्सा बनी हैं. वर्तमान समय में सुप्रीम कोर्ट में आर. भानुमति के अतिरिक्त दो और महिला न्यायाधीश (इंदू मल्होत्रा एवं इंदिरा बनर्जी) हैं.

आर. भानुमति ने साल 1981 में वकील के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की थी. वे साल 1988 में तमिलनाडु हायर ज्यूडिशियल सर्विस के जरिए डिस्ट्रिक्ट जज बनी थीं. उन्हें अप्रैल 2003 में मद्रास हाईकोर्ट में जज नियुक्त किया गया था. उन्हें अगस्त 2014 में सुप्रीम कोर्ट का जस्टिस बनाया गया था.

 

Related Categories

Popular

View More