डेली करेंट अफेयर्स डाइजेस्ट: 20 फरवरी 2020

प्रतिदिन के करेंट अफेयर्स से सम्बंधित जानकारी को संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत किया गया है. इसमें आज वर्ल्ड लैंग्वेज डेटाबेस और छत्रपति शिवाजी महाराज से संबंधित जानकारी संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत किया गया है.

हिंदी दुनिया में तीसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा: रिपोर्ट

वर्ल्ड लैंग्वेज डेटाबेस के 22वें संस्करण इथोनोलॉज में बताया गया है कि विश्वभर की 20 सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषाओं में 6 भारतीय भाषाएं हैं. इसमें हिंदी तीसरे स्थान पर है. इथोनोलॉज के अनुसार विश्वभर में 61.5 करोड़ लोग हिंदी भाषा का उपयोग करते हैं.

इथोनोलॉज के अनुसार विश्वभर में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषाओं में पहला स्थान अंग्रेजी का है. इसे पूरी दुनिया में 113.2 करोड़ लोग इस भाषा का उपयोग करते हैं. इसके अतिरिक्त दूसरे स्थान पर चीन में बोली जाने वाली मैंड्रेन भाषा है. इसे 111.7 करोड़ लोग बोलते हैं. चौथे नंबर पर 53.4 करोड़ लोगों के साथ स्पेनिस भाषा है.

छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती: 19 फरवरी

छत्रपति शिवाजी महाराज का जन्म 19 फरवरी 1630 में शिवनेरी दुर्ग में हुआ था. शिवनेरी दुर्ग, महाराष्ट्र राज्य के पुणे के जुन्नर गांव के पास स्थित एक ऐतिहासिक किला है. शिवाजी सभी धर्मों का समान रूप से सम्मान करते थे. शिवाजी महाराज ने अपने जीवनकाल में कई बार मुगलों की सेना को मात दी थी.

मराठा साम्राज्य की नींव रखने का पूरी तरह से श्रेय छत्रपति शिवाजी को जाता है. छत्रपति शिवाजी की जयंती को शिव जयंती एवं शिवाजी जयंती भी कहते हैं. महाराष्ट्र में शिवाजी जयंती पारंपरिक तरीके से मनाई जाती है. इस दिन महाराष्ट्र में सार्वजनिक अवकाश होता है.

लद्दाख में तीन दिवसीय विशाल पक्षी गणना में पक्षियों की दो नई प्रजातियां मिली

केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में हाल ही में तीन दिवसीय विशाल पक्षी गणना के दौरान पक्षियों की दो नई प्रजातियां पाई गई हैं. वन्यजीव संरक्षण और लद्दाख पक्षी क्लब ने ये गणना आयोजित की थी. लाल गले वाली सारिका और सुरमीला जल पक्षी लद्दाख क्षेत्र में पहली बार पाई गई.

दूसरी तरफ, कॉमन रोज़ फिंच और ग्रे हेरान प्रजातियां लद्दाख में इस बार पहले आ गई हैं. पक्षीविदों के तीन समूहों और वन्यजीव विशेषज्ञों ने लद्दाख में पक्षियों की कुल 87 तरह की भिन्न-भिन्न प्रजातियों की गिनती की.

बिमल जुल्का बने मुख्य सूचना आयुक्त

पूर्व सूचना एवं प्रसारण सचिव बिमल जुल्का को हाल ही में मुख्य सूचना आयुक्त (सीआइसी) चयनित किया गया है. बिमल जुल्का फिलहाल केंद्रीय सूचना आयोग में बतौर सूचना आयुक्त सेवारत हैं. इनका चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली उच्चाधिकार समिति ने किया है.

बिमल जुल्का मध्यप्रदेश कैडर के 1979 बैच के सेवानिवृत आईएएस अधिकारी हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में चयन समिति की उच्चस्तरीय बैठक में इनकी नियुक्ति को मंजूरी दी गई.

राजस्‍थान में अवैध रेत खनन पर सुप्रीम कोर्ट सख्‍त

सुप्रीम कोर्ट ने 19 फरवरी 2020 को राजस्थान सरकार को अवैध रेत खनन पर तुरंत रोक लगाने का निर्देश दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने राजस्था न सरकार से इस संबंध में चार हफ्ते के भीतर जवाब मांगा है.

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एसए बोबड़े की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि अवैध रेत खनन से पर्यावरण को अपूर्णीय क्षति होगी. इस पीठ में जस्टिस बीआर गवई और जस्टिस सूर्य कांत भी शामिल हैं. पीठ ने अदालत द्वारा नियुक्‍त केंद्रीय अधिकार प्राप्‍त समिति को इस मामले की जांच करने के भी आदेश दिये.

FAQ

Section 1

Content in section 1.

Section 2

Content in section 2.

Section 3

Content in section 3.

Related Categories

Also Read +
x