पूर्व सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग सेशेल्स में भारत के उच्चायुक्त नियुक्त

पूर्व सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग को हिंद महासागरीय देश सेशल्स का नया उच्चायुक्त नियुक्त किया गया है. सेशेल्स हिंद महासागर में भारत के लिए सामरिक रूप से महत्वपूर्ण देश है.

विदेश मंत्रालय ने यह घोषणा करते हुए कहा कि जल्द ही दलबीर सिंह सुहाग अपना कार्यभार संभाल लेंगे. भारत और द्वीपीय देश में सैन्य संबंधों के प्रगाढ़ होने के बीच सेशेल्स में भारतीय उच्चायुक्त के तौर पर उनकी नियुक्त सामने आई है.

भारत और सेशेल्स संबंध

भारत सामरिक रूप से महत्वपूर्ण सेशेल्स में अपनी जड़ें मजबूत करने के लिए देश के ‘‘अजम्पशन आईलैंड’’ को नौसेना अड्डे के तौर पर विकसित कर रहा है, जहां चीन अपनी सैन्य मौजूदगी बढ़ाने की कोशिश कर रहा है.

भारत और सेशेल्स के बीच साल 2015 में इस द्वीप को विकसित करने के लिए एक समझौता हुआ था. जून 2018 में, सेशेल्स के राष्ट्रपति डैनी फॉरे ने भारत का दौरा किया था. इस दौरान दोनों देशों ने साथ मिलकर द्वीप परियोजना पर काम करने पर सहमति जताई थी.

भारत और सेशेल्स दोनों देशों के बीच दोस्ताना संबंध हैं. दोनों देशों के बीच बीते पांच साल में आर्थिक, रणनीतिक और सामरिक समेत कई मुद्दों पर द्वीपक्षीय वार्ताएं हुई हैं.

भारत ने सेशेल्स को समुद्री निगरानी बढ़ाने हेतु और हिंद महासागर क्षेत्र में सुरक्षा बनाए रखने में मदद के लिए डोर्नियर विमान उपहार में दिए हैं. साथ ही भारत ने सेशेल्स को प्रतिरक्षा क्षमताओं और समुद्री बुनियादी ढांचे को मजबूत बनाने हेतु 10 करोड़ डॉलर का ऋण प्रदान करने की घोषणा की.

दलबीर सिंह सुहाग:

•    दलबीर सिंह सुहाग एक फौजी परिवार से सम्बंध रखते हैं. उनका जन्म 28 दिसम्बर 1954 को हरियाणा के झज्जर ज़िले के 'बिशन' नामक ग्राम में एक जाट परिवार में हुआ था.

•    दलबीर सिंह सुहाग ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा सैनिक स्कूल, चित्तौड़गढ़ से प्राप्त की थी.

•    जनरल सुहाग वर्ष 1970 में राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) में शामिल हुए थे.

•    जनरल सुहाग भारत की ओर से श्रीलंका में ऑपरेशन ‘पवन’ में कंपनी कमांडर थे.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

•    उन्होंने कश्मीर घाटी में जुलाई 2003 से लेकर मार्च 2005 के बीच आतंकवाद रोधी अभियानों के खिलाफ 53वीं इंफैंट्री ब्रिगेड के कमान संभाले थे.

•    जनरल दलबीर सिंह सुहाग 1987 में श्रीलंका में भारतीय शांति सेना (आईपीकेएफ) के अभियान में शामिल थे.

•    पूर्व में असम में एक खुफिया अभियान के सिलसिले में उनपर तत्कालीन थलसेना प्रमुख जनरल वीके सिंह द्वारा जनरल सुहाग पर ‘अनुशासन’ कार्यवाही (प्रोन्नति पर रोक) की गई थी, जिसे मई 2012 में तत्कालीन थलसेना प्रमुख जनरल बिक्रम सिंह द्वारा हटा लिया गया.

•    जनरल दलबीर सिंह सुहाग 'उत्तम युद्ध सेवा पदक', 'परम विशिष्ट सेवा पदक', 'विशिष्ट सेवा पदक' तथा 'अति विशिष्ट सेवा पदक' से सम्मानित किए जा चुके हैं. दलबीर सिंह सुहाग जुलाई 2014 से दिसंबर 2016 तक सेना प्रमुख रह चुके हैं.

•    जनरल दलबीर सिंह सुहाग भारतीय सेना के 26वें सेना प्रमुख थे.

•    वे इस्टर्न आर्मी कमांडर की भूमिका निभा चुके हैं. इनके कार्यकाल के दौरान साल 2016 में भारतीय सैनिकों द्वारा कश्मीर में आतंकी शीविरों पर सर्जिकल स्ट्राइक किया गया था.

यह भी पढ़ें: जयदीप सरकार दक्षिण अफ्रीका में भारत के नये उच्चायुक्त नियुक्त

Download our Current Affairs& GK app from Play Store/For Latest Current Affairs & GK, Click here

Related Categories

Popular

View More