Advertisement

दिलबाग सिंह जम्मू-कश्मीर के नए डीजीपी नियुक्त

जम्मू-कश्मीर सरकार ने 06 सितंबर 2018 को दिलबाग सिंह को राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) नियुक्त किया हैं.

राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से डीजीपी की नियुक्ति के लिए यूपीएससी की क्लीयरेंस की छूट मांगी है. सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि कोर्ट के आदेश के मुताबिक डीजीपी की नियुक्ति के लिए यूपीएससी को पैनल की लिस्ट भेजी जानी होती है.

सरकारी आदेश के अनुसार, नियमित व्यवस्था किए जाने तक, जम्मू-कश्मीर के महानिदेशक (जेल) दिलबाग सिंह को पुलिस महानिदेशक का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है.

                                  दिलबाग सिंह के बारे में:

दिलबाग सिंह 1987 के बैच के आईपीएस अधिकारी हैं.

श्रीनगर के श्री महाराजा हरि सिंह हॉस्पिटल के अंदर लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों ने हमला कर एक पाकिस्तानी आतंकवादी अबु हंजूला उर्फ नावीद जट को छुड़ा लिया था. इस हमले में दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे.

फरवरी 2018 में हुई इस घटना के बाद दिलबाग सिंह को अगले ही महीने जेल विभाग का डीजी नियुक्त किया गया था.

बतौर डीजी जेल अपने कार्यकाल के दौरान कई मोर्चों पर अपनी कार्यकुशलता से उन्होंने अलग पहचान बनाई है.

इसमें राज्य की जेलों के अंदर कैद आतंकियों को लेकर उन्होंने नई रणनीति पर काम किया. इसमें घाटी के कई खूंखार आतंकियों की जेल बदलने जैसे कदम भी शामिल हैं.

 

गृह विभाग के प्रधान सचिव द्वारा आदेश में कहा गया है कि 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी वैद्य का तबादला यातायात आयुक्त के पद पर किया गया है.

एक स्थायी व्यवस्था होने तक 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी और कारागार विभाग के प्रमुख दिलबाग सिंह इस पद का अतिरिक्त प्रभार संभालेंगे.

                              नोट:

गौरतलब है कि आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन द्वारा पुलिस कर्मियों के 12  संबंधियों को अगवा करने और लगातार बढ़ रही आतंकी हिंसा से पैदा हालात के मद्देनजर राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) के बदले जाने की चर्चाएं तेज थी.

इसके बाद हिज्बुल मुजाहिद्दीन के बड़े आतंकी के पिता को रिहा किया गया, जिसके बाद पुलिसकर्मियों के रिश्तेदारों को बिना कोई नुकसान पहुंचाए छोड़ दिया गया.

जम्मू कश्मीर पुलिस महानिदेशक पद के लिए तीन नामों की चर्चा जोरों पर है. इसमें पहला नाम जम्मू-कश्मीर मुख्यालय के स्पेशल डीजी बीके सिंह, दूसरा नाम दिल्ली स्थित नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल में तैनात एसएम सहाय और तीसरा नाम जम्मू-कश्मीर के महानिदेशक जेल दिलबाग सिंह का है. फिलहाल, दिलबाग सिंह को जम्मू कश्मीर का अतिरिक्त डीजीपी बनाया गया है.

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर पुलिस में दो महिला बटालियनों के गठन को मंजूरी

 

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement