Hindi Diwas 2020: जानें हिन्दी दिवस से जुड़ी रोचक जानकारी

हिन्दी दिवस: 14 सितंबर

Hindi Diwas 2020: हिन्दी दिवस भारत में प्रत्येक साल 14 सितंबर को मनाया जाता है. इस दिवस पर हिंदी भाषा के उत्थान तथा विकास के लिए गोष्ठी आदि आयोजित की जाती है. हिन्दी दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य देश में लोगों को हिन्दी के प्रति जागरूक करना है.

हिन्दी का उपयोग किए बिना हिन्दी भाषा का विकास नहीं हो सकता है. सभी सरकारी कार्यालयों में अंग्रेज़ी के जगह पर हिन्दी का उपयोग करने की सलाह दी जाती है. हिन्दी दिवस के दौरान कई कार्यक्रम होते हैं. विश्व में हिंदी बोलने वालों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है.

पहला हिन्दी दिवस: एक नजर में

पहला आधिकारिक हिन्दी दिवस 14 सितंबर 1953 में मनाया गया था. भारत में करीब 54.5 करोड़ लोग हिंदी बोलते हैं जिनमें से करीब 42.5 करोड़ उसे अपनी पहली भाषा मानते हैं. देश के 77 प्रतिशत लोग हिंदी लिखते, पढ़ते, बोलते और समझते हैं.

हिन्दी प्रमुख भाषाओं में से एक

हिन्दी विश्व में बोली जाने वाली प्रमुख भाषाओं में से एक है. विश्व की प्राचीन, समृद्ध तथा सरल भाषा होने के साथ-साथ हिन्दी हमारी 'राष्ट्रभाषा' भी है. हिन्दी विश्वभर में हमें सम्मान भी दिलाती है. हिन्दी ने हमें विश्व में एक नई पहचान भी दिलाई है. हिन्दी भाषा विश्व में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली तीसरी भाषा है.

हिन्दी भारत की 22 भाषाओं में से एक है. अधिकतर भारतीय हिन्दी को बोलते और समझते हैं. उत्तर भारत के राज्यों राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश में हिन्दी बोली और समझी जाती है. हिन्दी भाषा मॉरिशस, फिजी, सुरीनाम, त्रिनिदाद और टोबेगो में भी बोली जाती है.

हिन्दी दिवस के बारे में

हिन्दी दिवस प्रत्येक साल 14 सितंबर को मनाया जाता है. संविधान सभा द्वारा 14 सितंबर 1949 को एक मत से निर्णय लिया गया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी. इसी अहम निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने हेतु तथा हिन्दी को प्रत्येक क्षेत्र में प्रसारित करने के उद्देश्य से साल 1953 से संपूर्ण भारत में 14 सितंबर को प्रत्येक साल हिन्दी-दिवस के रूप में मनाया जाता है.

हिन्दी दिवस पर कार्यक्रम

हिन्दी दिवस के दौरान कई कार्यक्रम होते हैं. इस दिन कई स्थानों पर बच्चों में भाषा के प्रति रुचि विकसित करने हेतु तरह-तरह की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है. इस दिन छात्र-छात्राओं को हिन्दी के प्रति सम्मान तथा दैनिक व्यवहार में हिन्दी के उपयोग करने आदि की शिक्षा दी जाती है.

हिन्दी भाषा के लिए संवैधानिक प्रावधान

संविधान के अनुच्छेद 351 के अंतर्गत हिन्दी को अभिव्यक्ति के सभी माध्यमों के रूप में विकसित तथा प्रचारित करने का उत्तरदायित्व केंद्र सरकार का है. भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में अधिकारिक भाषा के अलावा 22 अन्य भाषाएं शामिल हैं.

हिन्दी दिवस पर पुरस्कार समारोह

हिन्दी के प्रति लोगों को उत्साहित करने के लिए हिन्दी दिवस पर पुरस्कार समारोह भी आयोजित किया जाता है. राष्ट्रपति द्वारा चयनित व्यक्तियों को राजभाषा कीर्ति पुरस्कार और राजभाषा गौरव पुरस्कार प्रदान किया जाता है. यह पुरस्कार उन व्यक्तियों को दिया जाता है जिसने अपने कार्य के दौरान अच्छी हिन्दी का उपयोग किया हो.

राजभाषा कीर्ति पुरस्कार

इस पुरस्कार योजना के तहत कुल 39 पुरस्कार दिये जाते हैं. यह पुरस्कार किसी समिति, विभाग, मण्डल आदि को उसके द्वारा हिन्दी में किए गए श्रेष्ठ कार्यों के लिए दिया जाता है. इसका मुख्य उद्देश्य सरकारी कार्यों में हिन्दी भाषा का उपयोग करने से है.

राजभाषा गौरव पुरस्कार

यह पुरस्कार तकनीकी या विज्ञान के विषय पर लिखने वाले किसी भी भारतीय नागरिक को दिया जाता है. इसमें दस हजार से लेकर दो लाख रुपये के 13 पुरस्कार होते हैं. इसमें पहला (प्रथम) पुरस्कार प्राप्त करने वाले को 2,00,000 तथा दूसरा (द्वितीय) पुरस्कार प्राप्त करने वाले को 1,50,000 और तीसरा (तृतीय) पुरस्कार प्राप्त करने वाले को 75,000 रुपये मिलता है.

Related Categories

Also Read +
x

Live users reading now