Advertisement

मानव संसाधन विकास मंत्री ने राष्ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी लॉन्च की

केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने 19 जून 2018 राष्ट्रीय पठन-पाठन दिवस के अवसर पर भारतीय राष्ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी लॉन्च की. सूचना व संचार तकनीक (एनएमईआरसीटी) के माध्यम से राष्ट्रीय शिक्षा मिशन के तत्वाधान में भारतीय राष्ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी (एनडीएल), मानव संसाधन विकास मंत्रालय की एक परियोजना है.

एनडीएल का लक्ष्य देश के सभी नागरिकों को डिजिटल शिक्षण संसाधन उपलब्ध कराना है तथा ज्ञान प्राप्ति के लिए उन्हें सशक्त, प्रेरित और प्रोत्साहित करना है. आईआईटी खड़गपुर ने भारतीय राष्ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी को विकसित किया है.

राष्‍ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी (एनडीएल)

राष्‍ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी भारत तथा विदेशों के शिक्षा संस्‍थानों से अध्‍ययन सामग्री एकत्र करने का एक प्‍लेटफॉर्म है. यह एक डिजिटल पुस्‍तकालय है, जिसमें पाठ्य पुस्‍तक, निबंध, वीडियो-आडियो पुस्‍तकें, व्‍याख्‍यान, उपन्‍यास तथा अन्‍य प्रकार की शिक्षण सामग्री शामिल है. कोई भी व्‍यक्ति, किसी भी समय और कहीं से भी राष्‍ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी का उपयोग कर सकता है. यह सेवा नि:शुल्‍क है.


विशेषताएं


•    राष्ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी की वेबसाइट के लिए www.ndl.gov.in पर विजिट कर सकते हैं.

•    वेबसाइट के अलावा राष्ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी मोबाइल एप्प पर भी उपलब्ध है.

•    यह मोबाइल एप्प पूरे देश के पुस्तकालयों और यहां तक कि विदेशी पुस्तकालयों को डिजिटल सामग्री उपलब्ध कराता है.

•    यह एप्प आईफोन और एंड्रायड दोनों में उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध है.

•    उपयोगकर्ता विषय, स्रोत, सामग्री का प्रकार आदि के माध्यम से विषय वस्तु ढूंढ सकते हैं.

•    अभी यह एप्प तीन भाषाओं अंग्रेजी, हिंदी और बांग्ला में उपलब्ध  है.

राष्ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी में 200 भाषाओं में 160 स्रोतों की 1.7 करोड़ अध्यियन सामग्री उपलब्ध है. लाइब्रेरी के अंतर्गत 30 लाख उपयोगकर्ताओं का पंजीयन हो चुका है तथा सरकार का लक्ष्य प्रति वर्ष इस संख्या में 10 गुनी वृद्धि करना है.

 

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर में गठबंधन टूटा, राज्यपाल शासन लागू होगा

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement