ICC ने क्रिकेट फिर से शुरू करने के लिए व्यापक दिशानिर्देश जारी किये

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने दुनिया भर में क्रिकेट को फिर से शुरू करने के लिए व्यापक दिशानिर्देश जारी किए हैं. इन दिशानिर्देशों में अंतरराष्ट्रीय, घरेलू और सामुदायिक स्तर पर क्रिकेट के लिए विभिन्न ‘डूज़ और डोनट्स’ (क्या करें और क्या न करें) की एक सूची शामिल है, ताकि इस दौरान, उच्चतम सुरक्षा प्रोटोकॉल कायम रखना भी सुनिश्चित हो सके.

ICC ने अपने दिशानिर्देशों में कोविड -19 लॉकडाउन के बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को फिर से शुरू करने के लिए प्रशिक्षण शिविरों में 14-दिवसीय प्री-मैच आइसोलेशन (अलगाव) और मुख्य चिकित्सा अधिकारी या जैव सुरक्षा अधिकारी की नियुक्ति करने की सिफारिश की है. 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी को प्रशिक्षण और प्रतियोगिता को फिर से शुरू करवाने के लिए सरकारी नियमों के अनुकरण और जैव सुरक्षा योजना की जांच करनी होगी. ICC ने प्रशिक्षण और प्रतियोगिता के दौरान एक उपयुक्त परीक्षण योजना तैयार करने की भी सिफारिश की है.

क्रिकेट फिर से शुरू करने के लिए ICC के दिशानिर्देश: पूरी सूची

• ICC ने टीमों को गेंदबाजों की रीढ़ को स्ट्रेस फ्रैक्चर जैसी गंभीर चोट से बचाने के लिए गेंदबाजों के कार्यभार के संबंध में सावधानी बरतने का सुझाव दिया है, क्योंकि लंबे समय के बाद गेंदबाजों की खेल पर वापसी करने से चोटिल होने की विशेष रूप से ज्यादा संभावना रहती है.

• ICC ने सिफारिश की है कि गेंदबाजों को अपने सर्वोत्तम प्रदर्शन के लिए आवश्यक कार्यभार/ क्षमता निर्मित करने के लिए कम से कम 05 से 12 सप्ताह की प्रशिक्षण अवधि की आवश्यकता होगी.

• ICC के दिशानिर्देश गेंदबाजों की उम्र और शारीरिक तैयारियों पर जोर देते हैं, क्योंकि इससे  अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सुरक्षित और प्रभावी वापसी के लिए उपयुक्त गेंदबाजी की क्षमता निर्मित करने के लिए आवश्यक समयावधि और जोखिम पर प्रभाव पड़ेगा.

• मेजबान देश द्वारा उपलब्ध करवाये जाने वाले नेट बॉलर्स (गेंदबाजों) की अनुपस्थिति की भरपाई करने के लिए और पहली पसंद के गेंदबाजों को चोट लगने से बचाने के लिए ICC ने टीमों को "बड़े" खिलाड़ी समूह के साथ यात्रा करने की सलाह दी है.

• ICC के सुझावों के अनुसार, T20s में लौटने वाले किसी भी गेंदबाज को अंतिम तीन सप्ताह में मैच की तीव्रता के अनुरूप गेंदबाजी करने के लिए कम से कम 5-6 सप्ताह की तैयारी की आवश्यकता होगी.

• एक दिवसीय मैचों के मामले में, अनुशंसित तैयारी की अवधि कम से कम 6 सप्ताह होती है, जिसमें अंतिम तीन सप्ताह में मैच की तीव्रता के अनुरूप गेंदबाजी भी शामिल होती है.

• टेस्ट मैचों के मामले में, ICC ने मैच की तीव्रता के अनुरूप गेंदबाजी के लिए समर्पित अंतिम 4-5 सप्ताह के साथ लगभग 8-12 सप्ताह की सबसे लंबी तैयारी की अवधि की सिफारिश की है.

• ICC ने उल्लेख किया है कि यह तैयारी की अवधि उन शारीरिक गतिविधियों पर निर्भर करेगी जो गेंदबाज लॉकडाउन के दौरान करने में सक्षम है जैसेकि नियमित रूप से दौड़ लगाना  और गेंदबाजी का अभ्यास करना आदि. यह गेंदबाज की आयु, चोट के इतिहास, गेंदबाजी तकनीक और गति सहित कई मूल्यांकन कारकों पर भी निर्भर करता है.

ICC ने लार के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की 

ICC क्रिकेट समिति ने कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए क्रिकेट गेंद को चमकाने के लिए लार के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की है, क्योंकि यह वायरस लार से फैलता है. कुंबले के नेतृत्व वाले ICC पैनल ने कोविड 19 के संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए इस प्रतिबंध को लागू करने की सिफारिश की थी.

पृष्ठभूमि

ICC के दिशा-निर्देश ऐसे समय पर जारी हुए हैं जब कोविड -19 महामारी के कारण लॉकडाउन में लगभग 10 सप्ताह गुजारने के बाद खिलाड़ी फिर से प्रशिक्षण शुरू करने के लिए तैयार हो रहे हैं. कई अंतर्राष्ट्रीय टीमें फिर से खेल शुरू करने के लिए तैयार हैं. 21 मई, 2020 को इंग्लैंड पहला ऐसा प्रमुख देश बन गया है, जिसने व्यक्तिगत प्रशिक्षण के लिए लौटे 18 गेंदबाजों के साथ प्रशिक्षण शुरू किया. है. इंग्लैंड के पास वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला की तैयारी करने के लिए लगभग 7 सप्ताह का समय है और यह श्रृंखला 8 जुलाई से शुरू होने की संभावना है.

दुनिया भर में कोविड -19 महामारी के घातक प्रकोप के बाद सभी क्रिकेट गतिविधियों को रोक दिया गया था. टोक्यो ओलंपिक सहित इस वर्ष के लिए निर्धारित कई प्रमुख खेल प्रतियोगिताओं को स्थगित कर दिया गया है. हालांकि आगामी टी 20 विश्व कप के बारे में अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है, अगर कोरोना वायरस संकट कम नहीं होता तो यह टूर्नामेंट खतरे में पड़ सकता है.
हालांकि, कई देशों में प्रतिबंधों में ढील दिए जाने के साथ, ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका सहित कुछ देशों ने क्रिकेट दौरों की मेजबानी में रुचि दिखाई है, क्योंकि ये सभी बोर्ड कोविड -19 महामारी के आर्थिक प्रभाव से उबरने की कोशिश कर रहे हैं.

भारत में, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने खेल परिसरों और स्टेडियमों को फिर से खोलने की अनुमति दी है. हालांकि सामाजिक दूरी  कायम रखने के सख्त उपायों का पालन करना होगा और स्टेडियम के अंदर किसी भी दर्शक को जाने की अनुमति नहीं होगी. इसलिए, अगर क्रिकेट के मैच खेले भी जायें तो भी अभी दर्शकों को ये मैच देखने की अनुमति शायद नहीं दी जायेगी.

Related Categories

NEXT STORY
Also Read +
x