Next

भारतीय रेलवे ने डिजीटल ऑनलाइन एचआर मैनेजमेंट सिस्टम का किया शुभारंभ

भारतीय रेलवे ने पूरी तरह से डिजीटल ऑनलाइन ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट सिस्टम (HRMS) का शुभारंभ किया है. रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और CEO, विनोद कुमार यादव ने 26 नवंबर, 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रेलवे कर्मचारियों और पेंशनरों के लिए इस प्रणाली का शुभारंभ किया है. यह HRMS प्रणाली भारतीय रेलवे के लिए एक उच्च प्रेरक परियोजना है.

महत्व

ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट सिस्टम (HRMS) से सभी कर्मचारियों के कामकाज पर बड़ा प्रभाव डालने और उन्हें अधिक टेक-सेवी बनाने की उम्मीद है.

मुख्य विशेषताएं

रेलवे बोर्ड के CEO ने HRMS और उपयोगकर्ता डिपो के निम्नलिखित मॉड्यूल लॉन्च किए:

लाभ

पृष्ठभूमि

भारतीय रेलवे ने ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट सिस्टम के अन्य मॉड्यूलों को पहले ही लॉन्च कर दिया है जिसमें कर्मचारी मास्टर मॉड्यूल, इलेक्ट्रॉनिक सेवा रिकॉर्ड मॉड्यूल, वार्षिक प्रदर्शन मूल्यांकन रिपोर्ट (APAR) मॉड्यूल, इलेक्ट्रॉनिक पास मॉड्यूल और कार्यालय आदेश मॉड्यूल शामिल हैं.

कर्मचारी मास्टर मॉड्यूल: यह मॉड्यूल रेलवे कर्मचारियों की मूल जानकारी का विवरण संग्रहीत करता है.

इलेक्ट्रॉनिक सेवा रिकॉर्ड मॉड्यूल: यह मॉड्यूल दस्तावेजी सेवा रिकॉर्ड की जगह, डिजिटल प्रारूप में कर्मचारियों के सेवा रिकॉर्ड को संग्रहीत करता है.

वार्षिक प्रदर्शन मूल्यांकन रिपोर्ट (APAR) मॉड्यूल: यह सभी 12 लाख अराजपत्रित रेलवे कर्मचारियों के वार्षिक प्रदर्शन मूल्यांकन की पूरी प्रक्रिया को डिजिटलाइज़ करेगा.

इलेक्ट्रॉनिक पास मॉड्यूल: यह दस्तावेजी पेपर पास की जगह इस्तेमाल किया जा रहा है.

कार्यालय आदेश मॉड्यूल: यह कार्यालय के आदेशों के साथ-साथ नए कर्मचारियों के जॉब ज्वाइन करने पर या कर्मचारियों की पदोन्नति, स्थानांतरण और सेवानिवृत्ति के मामले में HRMS डाटाबेस में डाटा के अपडेशन के लिए है.

Related Categories

Also Read +
x

Live users reading now