Advertisement

भारतीय रेलवे ने मिशन सत्यनिष्ठा लॉन्च किया

भारतीय रेलवे ने राष्ट्रीय रेल संग्राहलय, नई दिल्ली में 27 जुलाई 2018 को जन प्रशासन में नैतिकता के लिए मिशन सत्यनिष्ठा को लॉन्च किया. यह किसी सरकारी संगठन द्वारा आयोजित किया गया इस प्रकार का पहला कार्यक्रम था.
इस कार्यक्रम के दौरान रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अधिकारियों को सत्यनिष्ठा की शपथ दिलाई.

मिशन सत्यनिष्ठा

सरकारी सेक्टर में नैतिकता और सत्यनिष्ठा जैसे मुद्दे हमेशा ही चिंता का विषय रहे हैं. इस सन्दर्भ में रेलवे कर्मचारियों के लिए कार्य के दौरान नैतिकता और सत्यनिष्ठा अति महत्वपूर्ण है. इस कार्यक्रम के दौरान कार्य में सत्यनिष्ठा के उच्च स्तर बनाये रखने पर चर्चा की गयी. इस विषय पर कार्यक्रम में चर्चा की गयी और भाषण दिए गये.

उद्देश्य

•    व्यक्तिगत व सार्वजनिक जीवन में नैतिकता के प्रति  कर्मचारियों को जागरूक व प्रशिक्षित करना

•    सार्वजानिक जीवन में नैतिकता सम्बन्धी समस्याओं का सामना करना

•    रेलवे में नैतिकता का महत्व

•    रेलवे कर्मचारियों की कार्यकुशलता में वृद्धि करना

•    आन्तरिक संसाधनों द्वारा आन्तरिक शासन में सत्यनिष्ठा लाना.

पृष्ठभूमि

सार्वजनिक जीवन में नैतिकता, अखंडता और सदभावना का मुद्दा पूरे सरकारी क्षेत्र में चिंता का विषय रहा है. इसलिए, यह बेहद महत्वपूर्ण हो गया है कि सभी रेलवे कर्मचारी हर समय निर्दोष आचरण और अखंडता का पालन करें. इस लक्ष्य की पूर्ति हेतु इस विषय पर भारतीय रेलवे के कार्यस्थलों पर वार्ता और व्याख्यान आयोजित किए गए.

 

यह भी पढ़ें: सौरभ वर्मा ने रूस ओपन खिताब जीत कर इतिहास रचा

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement