Advertisement

भारत और नेपाल का संयुक्त सैन्य अभ्यास ‘सूर्य किरण-XIII’ आरंभ

भारत-नेपाल संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यास ‘सूर्य किरण-XIII’ का आयोजन 30 मई से 12 जून 2018 तक उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में किया जायेगा.

यह भारत और नेपाल के बीच सैन्य अभ्यास का तेरहवां संस्करण होगा.

                                                                              उद्देश्‍य

सूर्य किरण सैन्‍य अभ्‍यास का उद्देश्‍य संयुक्‍त रूप से पहाड़ी क्षेत्र में आतंकवादरोधी अभियानों को ध्‍यान में रखकर जवानों को प्रशिक्षित करना है.

 

सूर्य किरण-XIII

  • इस सैन्‍य अभ्‍यास के दौरान दोनों ही देशों के सेनाओं के जवान विभिन्‍न जवाबी कार्रवाइयों और आतंकवादरोधी अभियानों से जुड़े अपने पूर्व अनुभवों को साझा करेंगे.
  • इस दौरान सैनिक आपस में अपने अनुभवों को साझा करेंगे.
  • सैन्‍य अभ्‍यास में दोनों देशों के करीब 300 जवान हिस्‍सा लेंगे.
  • इस सैन्य युद्धाभ्यास में आपदा प्रबन्धन सहित राहत एवं बचाव के महत्वपूर्ण पहलुओं पर जोर दिया जायेगा.

                                                                                नोट

‘सुर्य किरण-XIII’ नेपाल के रक्षा मंत्री ईश्वर पोखरेल की निगरानी में आयोजित होने वाला यह पहला सैन्‍य अभ्यास होगा, जिन्होंने फरवरी 2018 में पद संभाला था.

 

सूर्य किरण अभ्‍यास:

  • सूर्य किरण सैन्‍य अभ्‍यास साल में दो बार होता है, जो कि क्रमबद्ध रूप से दोनों ही देशों में आयोजित होता है.
  • भारत कई देशों के साथ प्रशिक्षण अभ्‍यासों में भाग लेता है, लेकिन सैनिकों की संख्‍या के लिहाज से सूर्य किरण सैन्‍य अभ्‍यास सबसे बड़ा होता है.
  • संयुक्‍त सैन्‍य अभ्‍यास से दोनों देशों के बीच रक्षा क्षेत्र में सहयोग बढ़ेगा और द्विपक्षीय संबंध सुदृढ होंगे.
  • भारत-नेपाल संयुक्त सैन्य युद्धाभ्यास सूर्य किरण-XII का शुभारंभ नेपाल के सलझंडी स्थित नेपाल आर्मी बैटल स्कूल (एनएबीएस) में किया गया था.
यह भी पढ़ें: भारतीय सेना का युद्धाभ्यास ‘विजय प्रहार' सफलतापूर्वक संपन्न हुआ

यह भी पढ़ें: सैन्य अभ्यास में पहली बार एक साथ हिस्सा लेंगे भारत-पाकिस्तान
 
Advertisement

Related Categories

Advertisement