International Volunteer Day 2019: अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस क्या है और इसे क्यों मनाया जाता है?

International Volunteer Day 2019 in hindi: प्रत्येक साल संपूर्ण विश्व में 05 दिसम्बर को 'अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस' मनाया जाता है. यह दिन उन सभी लोगों के प्रति आभार प्रकट करने हेतु मनाया जाता है जो बिना किसी मौद्रिक लाभ के मुफ्त में काम कर रहे हैं और अन्य लोगों की सहायता करते हैं.

अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस 2019 का मुख्य विषय- ‘वालंटियर फॉर एन इंक्लूसिव फ्यूचर (Volunteer for an inclusive future)’ हैं. यह दिवस स्थानीय, राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय सभी स्तरों पर परिवर्तन करने में लोगों की भागीदारी के सम्मान का एक वैश्विक उत्सव है.

अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस स्वयंसेवकों के अवसरों के प्रति आम जनता में जागरूकता फैलाने हेतु मनाया जाता है. इस अवसर पर जन-जागरूकता पैदा करने हेतु कान्फ्रेंस, सेमिनार, स्वच्छता अभियान आदि कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं. यह अवसर सामुदायिक स्तर पर स्वयंसेवकों की बढ़ती संलिप्तता एवं भागीदारी को रेखांकित करता है.

अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस क्यों मनाया जाता है?

अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस स्वयंसेवकों, स्वयंसेवी संगठनों के लिए तथा उनके समुदायों हेतु उनके योगदान के बारे में जागरूकता बढ़ाने और समझने हेतु मनाया जाता है. विश्व के प्रत्येक देश में स्वैच्छिक सेवा के विकास को लेकर आज अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस (अंतरराष्ट्रीय वालंटियर दिवस) मनाया जा रहा है.

पिछला अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस की विषय

साल

विषय

2015

‘दुनिया बदल रही है, क्या आप इसके सह भागी’ (The world is changing, are you part of it).

2016

‘वैश्विक अभिवादन-स्वयंसेवकों का साथ दें’ (Global Applause-give Volunteers a hand).

2017

‘वॉलंटियर्स एक्ट फर्स्ट, हेयर, एव्रीव्हेयर’ (Volunteers Act First, Here, Everywhere).

2018

‘स्वयंसेवक लचीला समुदाय का निर्माण करते हैं’ (Volunteers build Resilient Communities).

यह भी पढ़ें:Indian Navy Day 2019: जानिए भारतीय नौसेना दिवस का इतिहास और महत्व

अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस के बारे में

संयुक्त राष्ट्र (यूएन) महासभा द्वारा अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस (आईवीडी) 17 दिसंबर 1985 को संकल्प 40/212 के माध्यम से स्थापित किया गया था. संयुक्त राष्ट्र महासभा ने एक संकल्प द्वारा प्रति वर्ष 05 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी.

सभी सरकारें, संयुक्त राष्ट्र प्रणाली और नागरिक सामाजिक संगठन तभी से 05 दिसंबर को विश्व भर में स्वयंसेवक दिवस मनाने के लिए शामिल होते हैं. स्वयंसेवकों का कार्य बड़ा ही अहम होता है. वे अपने कार्यों से युवाओं को राष्ट्र की मुख्य धारा से जोड़ने हेतु प्रेरित करते हैं.

यह भी पढ़ें:अंतरराष्ट्रीय गुलामी उन्मूलन दिवस विश्वभर में मनाया गया

यह भी पढ़ें:National Milk Day 2019: जानिए राष्ट्रीय दुग्ध दिवस के बारे में सबकुछ

Related Categories

Also Read +
x