Jagranjosh Education Awards 2021: Click here if you missed it!
Next

कर्नाटक डिजिटल इकॉनमी मिशन कार्यालय का उद्घाटन, बढ़ायेगा राज्य में डिजिटल इकॉनमी का योगदान

कर्नाटक डिजिटल इकॉनमी मिशन - इस KDEM कार्यालय का उद्घाटन सकल राज्य घरेलू उत्पाद में डिजिटल इकॉनमी के योगदान को 30% तक बढ़ाने के उद्देश्य से किया गया है. इसके साथ ही, ‘बियॉन्ड बेंगलुरु’, जो इस लक्ष्य को प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करेगा, 09 फरवरी, 2021 को इसे भी लॉन्च किया गया था.

इस अवसर पर बोलते हुए, उप मुख्यमंत्री डॉ. सीएन अश्वत्थ नारायण ने यह कहा कि, कर्नाटक सरकार चाहती थी कि, KDEM उद्योग के अधिक अनुकूल हो. उन्होंने आगे यह भी कहा कि, इस बात को ध्यान में रखते हुए, इसने उद्योग संघों को 51% हिस्सेदारी की अनुमति दी है, जबकि अपने लिए 49% की अल्पसंख्यक हिस्सेदारी बरकरार रखी है.

Inaugurated the Karnataka Digital Economy Mission & launched the report on #BeyondBengaluru today.

Both these dynamic initiatives will help strengthen our IT ecosystem and in turn boost Karnataka's Digital Economy by promoting our successful & vibrant Tech industry globally. pic.twitter.com/Dx7cheTF94

— Dr. Ashwathnarayan C. N. (@drashwathcn) February 9, 2021

डिजिटल इकॉनमी को मजबूत बनाने का लक्ष्य 

राज्य की डिजिटल इकॉनमी को मजबूत करने के लिए, सरकार दूरदराज के हिस्सों तक कनेक्टिविटी में सुधार लाने, ग्रामीण-शहरी विभाजन को कम करने, आवश्यक बुनियादी ढांचे की स्थापना करने के माध्यम से 24/7 बिजली प्रदान करने पर अपना ध्यान केंद्रित करेगी.

कर्नाटक में KDEM: प्रमुख विशेषताएं 

• इसका उद्देश्य राज्य में IT/ ITeS क्षेत्र के लिए निवेश को आकर्षित करना और वर्ष, 2025 तक 10 लाख नौकरियां पैदा करना होगा.
• IT के जिन पांच वर्टिकल पर ध्यान केंद्रित करके KDEM इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए काम करेगा वे हैं - सेवायें और उत्पाद; नवाचार और स्टार्टअप; प्रतिभा त्वरक; बियॉन्ड बेंगलुरु; इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम डिजाइन और मैन्युफैक्चरिंग.
• IT निर्यात में 150 बिलियन डॉलर के लक्ष्य तक पहुंचने में और वर्ष, 2025 तक 300 बिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने में भी KDEM कर्नाटक सरकार की मदद करेगा.

GSDP में IT क्षेत्र का वर्तमान योगदान

वर्तमान में, GSDP में IT क्षेत्र का योगदान 25% है और अकेले बेंगलुरु में यह 98% है. इसे ध्यान में रखते हुए, अन्य क्षेत्रों में योगदान बढ़ाने के लिए, सरकार द्वारा ‘बियॉन्ड बेंगलुरु’ परियोजना शुरू की गई है.

Related Categories

Also Read +
x

Live users reading now