Advertisement

KVIC ने एक दिन में 2,330 मधुमक्खी पालन बक्से बांटकर विश्व रिकॉर्ड बनाया

खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने एक दिन में सर्वाधिक मधुमक्खी पालन बक्सों का वितरण करके विश्व रिकॉर्ड बनाया है. केवीआईसी ने कश्मीर के कुपवाड़ा स्थित सेना क्षेत्र में यह वितरण किया.

इससे पहले विश्व मधुमक्खी दिवस के अवसर पर केवीआईसी ने काजीरंगा वन क्षेत्र में मिशींग जनजाति समुदाय के बीच 1000 मधुमक्खी बक्सों का वितरण करके रिकॉर्ड बनाया था.

कार्यक्रम का उद्देश्य

केवीआईसी के कार्यक्रमों से घाटी में रोजगार के अवसरों का सृजन होगा. शहद मिशन का लक्ष्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मीठी क्रांति’ के सपने को पूरा करना है. वन क्षेत्र में 233 लाभार्थियों के बीच 2330 मधुमक्खी पालन बक्सों का वितरण किया गया है. केवीआईसी ने ‘शहद मिशन’ के तहत नवम्बर, 2018 से पहले पूरे देश में 1.3 लाख मधुमक्खी बक्सों के वितरण का लक्ष्य निर्धारित किया है.


कार्यक्रम के मुख्य बिंदु

•    केवीआईसी प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) के लिए नोडल एजेंसी है.

•    इसके अंतर्गत शहद के प्रसंस्करण, पैकेजिंग और लेबल लगाने से जुड़ी इकाइयों को ऋण उपलब्ध कराया जाता है.

•    भारतीय सेना के सद्भावना कार्यक्रम के तहत कुपवाड़ा में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया. इसका उद्देश्य घाटी में शांति और सद्भावना एवं समृद्धि की स्थापना करना है.

•    भारतीय सेना ने लोगों को प्रशिक्षित करने में सहायता प्रदान की है और मधुमक्खी छत्तों के निर्माण के लिए 10 प्रतिशत वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई है.

शहद मिशन
खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ने इस मिशन का नाम शहद मिशन रखा है. इसके तहत नवम्बर 2018 तक देश भर में 1.3 लाख मधुमक्खी पालन बक्से रखने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. अब तक 27,000 बक्से वितरित किये जा चुके हैं.

यह भी पढ़ें: जम्मू और कश्मीर में ब्लॉक स्तर पर खेलों के लिए 14.30 करोड़ रुपये की स्वीकृति

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement