पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल नियुक्त

पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा को हाल ही में जम्मू कश्मीर का नया उपराज्यपाल नियुक्त किया गया है. राष्ट्रपति भवन की तरफ से इस आशय की सूचना जारी की गई है. भाजपा नेता मनोज सिन्हा पूर्वांचल में भाजपा के बड़े चेहरों में से एक हैं. राष्ट्रपति भवन की तरफ से मनोज सिन्हा की नियुक्ति का घोषणा किया गया है.

मनोज सिन्हा को गिरीश चंद्र मुर्मू की जगह जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल का दायित्व सौंपा गया है. गिरीश चंद्र मुर्मू ने अचानक से 05 अगस्त 2020 को इस्तीफ़ा दे दिया था. राष्ट्रपति ने उनका इस्तीफ़ा मंज़ूर कर लिया है. गिरीश चंद्र मुर्मू को पिछले वर्ष 29 अक्टूबर को राज्यपाल सत्यपाल मलिक को गोवा भेजे जाने के बाद जम्मू-कश्मीर का उपराज्यपाल बनाया गया था.

मनोज सिन्हा को बड़ी जिम्मेदारी

मनोज सिन्हा की गिनती प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भरोसेमंद नेताओं में होती है. ऐसे में अब एक बार फिर केंद्र सरकार की ओर से मनोज सिन्हा को बड़ी जिम्मेदारी दी गई है.

मनोज सिन्हा कौन हैं?

मनोज सिन्हा पूर्व में गाजीपुर से सांसद रहे हैं और पूर्वी उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के बड़े चेहरे हैं. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में मनोज सिन्हा मंत्री रह चुके हैं और उनके पास रेलवे के राज्यमंत्री और संचार राज्यमंत्री का कार्यभार था.

मनोज सिन्हा का जन्म 01 जुलाई 1959 को गाजीपुर के मोहनपुरा में हुआ था. उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई गांव के प्राथमिक विद्यालय से किया था. इसके बाद वे आगे की पढ़ाई के लिए बनारस चले गए. मनोज सिन्हा आइआइटी बीएचयू से सिविल इंजीनियरिंग में बीटेक और एमटेक किए हुए हैं.

वे साल 1989 में भाजाप राष्ट्रीय परिषद के सदस्य बने और साल 1996, साल 1999, साल 2014 में गाजीपुर से सांसद बने. वे साल 1999 से साल 2000 तक ऊर्जा, संबंधी स्‍थायी समिति के सदस्‍य भी रहे. मनोज सिन्हा साल 2014 में गाजीपुर से चुनाव जीते थे, जिसके बाद केंद्र सरकार में उनके पास दो मंत्रालय थे. पूर्वांचल से आने वाले मनोज सिन्हा साल 2019 का लोकसभा चुनाव हार गए थे.

Related Categories

Also Read +
x