Advertisement

माइक पोम्पियो ने अमेरिका के विदेश मंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की

माइक पोम्पियो ने 27 अप्रैल 2018 को अमेरिका के 70वें विदेश मंत्री के रूप में शपथ ली. इससे पहले अमेरिकी सीनेट ने उनके नामांकन की पुष्टि कर दी थी.

शपथ ग्रहण समारोह के तुरंत बाद अमेरिका के विदेश विभाग ने घोषणा की कि पोम्पियो 26 अप्रैल से 30 अप्रैल तक ब्रसेल्स, रियाद, यरुशलम और अम्मान की यात्रा करेंगे. इससे पहले सीनेट ने पूर्व सीआईए निदेशक पोम्पियो के नाम की 42 के मुकाबले 57 मतों से पुष्टि की.

पोम्पियो ने रेक्स टिलरसन की जगह ली जिन्हें राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गत महीने बर्खास्त कर दिया था. सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश सैमुअल अलितो ने अदालत के वेस्ट कांफ्रेंस कक्ष में माइक पोम्पियो को विदेश मंत्री पद की शपथ दिलाई.

माइक पोम्पियो के बारे में


•    माइक पोम्पियो का जन्म 30 दिसंबर 1963 को हुआ. उनके पिता इटली से आकर अमेरिका में बस गये थे.

•    1982 में पोम्पियो ने लॉस एमिगोस हाई स्कूल, फाउंटेन वैली से स्नातक शिक्षा प्राप्त की.’

•    वे 1986 से 1991 तक अमेरिकी सेना में कार्यरत रहे. इसके बाद उन्होंने हार्वर्ड लॉ स्कूल से डिग्री प्राप्त की तथा विलियम्स एंड कोन्नोली में वकालत आरंभ की.

•    इसके बाद उन्होंने एयरोस्पेस बिज़नेस में भी काफी प्रसिद्धी प्राप्त की.

•    वर्ष 2010 में उन्होंने केंसास की सीट भारी मतों से जीतकर इसकी शोभा बढ़ाई.

•    वर्ष 2012 में पोम्पियो ने डेमोक्रेट नेता रोबर्ट टिलमैन को 62%-32% के मतों से हराया.

•    उन्हें 18 नवम्बर 2016 को सीआईए का प्रमुख नियुक्त किया गया.

•    उन्हें अमेरिका और उत्तर कोरिया के संबध को सामान्य करने का श्रेय भी दिया जाता है.

 

यह भी पढ़ें: प्रिंस चार्ल्स राष्ट्रमंडल के अगले प्रमुख होंगे, सभी नेताओं ने दी मंजूरी


पृष्ठभूमि

माइक पोम्पियो का विरोध अमेरिका में बसे हिंदु और मुसलमान समेत दूसरे अल्पसंख्यक समुदायों पर की गई उनकी एक टिप्पणी की वजह से किया जा रहा है. पोम्पियो ने भारतीय-अमेरिकी राजेनता राज गोयल पर साल 2010 में एक विवादित ट्वीट किया था.

 

 

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement