Advertisement

खिचड़ी को 'ब्रैंड इंडिया फूड' बनाने की योजना

केंद्र सरकार के खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय ने अक्टूबर 2017 के अंतिम सप्ताह में खिचड़ी को भारत के ब्रांड फ़ूड के रूप में प्रस्तावित किया. मीडिया में प्रकाशित जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार 4 नवंबर 2017 को खिचड़ी को भारतीय भोजन के ब्रांड के रूप में प्रस्तुत करेगी.

प्रत्येक वर्ष 4 नवम्बर को विश्व खाद्य दिवस मनाया जाता है. इस अवसर पर देश के खाद्य प्रसंस्करण उद्योग और पाक शैली को भी दर्शाया जाएगा. मीडिया खबरों के अनुसार, विश्व खाद्य दिवस पर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू खिचड़ी बनाने की शुरूआत करेंगे. तैयार किए गए इस खिचड़ी को अक्षय पात्र फाउंडेशन के जरिए गरीब बच्चों में वितरित किया जाएगा.


मंत्रालय की घोषणा

मंत्रालय का तर्क है कि चाहे अमीर हों या गरीब, खिचड़ी सबका पसंदीदा भोजन है. ऐसा माना जाता है कि यह एक प्रकार से सभी व्यंजनों का राजा है. यह पौष्टिक भी है तथा सेहत के लिए लाभदायक भी है. चावल, दाल और सीमित मात्रा में मसाले डालकर बनाए जाने वाले इस खाद्य पदार्थ को काफी स्वादिष्ट भी माना जाता है. यह बेहद कम खर्च में और बेहद जल्दी तैयार हो जाती है.

खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने खिचड़ी को विशेष भोजन का दर्जा देने का सुझाव दिया जिसे स्वीकार कर लिया गया. विश्व खाद्य दिवस के अवसर पर विभिन्न अनाज जैसे ज्वार, बाजरा और मोटे दाल से 800 किलोग्राम खिचड़ी तैयार की जाएगी. यह प्रयास गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में इसे स्थान दिलाने के लिए किया जाएगा.


केंद्र सरकार ने 'मेक इन इंडिया' के नियमों को उदार बनाया

करेंट अफेयर्स 2017 के लिए यहां क्लिक करें

Advertisement

Related Categories

Advertisement