Advertisement

राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का शुभारंभ

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय 04 फरवरी 2019 को 30 वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह की शुरुआत करेंगे. इसमें लोगों को सड़क के सुरक्षित उपयोग के बारे में जागरूकता पैदा करने और संवेदनशील बनाने के लिए कई पहलों की योजना बनाई गई है.

नई दिल्ली के राजघाट स्थित गांधी स्मृति और दर्शन समिति में एक कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और सड़क परिवहन और राजमार्ग, जहाजरानी और जल संसाधन, नदी विकास और गंगा कायाकल्प मंत्री नितिन गडकरी महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष्य में एक मोटर कार रैली को झंडी दिखाएंगे.

मुख्य तथ्य:

   यह रैली भारत के साथ-साथ बांग्लादेश और म्यांमार दोनों जगहों पर ऐतिहासिक रूप से गांधीजी से जुड़े स्थानों की यात्रा करेगी और बांग्लादेश में ढाका की यात्रा से पहले भारत में साबरमती, पोरबंदर, दांडी, यरवदा, सेवाग्राम, जबलपुर, लखनऊ, गोरखपुर, चौरीचौरा, चंपारण, शांतिनिकेतन और कोलकाता से होकर गुजरेगी.

   इस रैली का समापन म्यांमार के यांगून में 24 फरवरी को होगा, जिसमें कुल 7250 किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी.

   यह रैली भारत और महात्मा गांधी के 150वें वर्ष के उपलक्ष्य में वर्ष भर चलने वाले समारोहों का हिस्सा है, जिसकी शुरुआत पिछले साल 02 अक्टूबर को भारत सरकार द्वारा की गई थी. यह रैली रास्ते के साथ सड़क सुरक्षा चिंताओं की भी पक्षधरता करेगी.

   रैली के अलावा, कार्यक्रम में भारत और उसके राज्यों के सड़क दुर्घटना डाटा के लिए डैश बोर्ड का भी शुभारंभ किया जाएगा.

   सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री भी इस अवसर पर भारतीय सड़कों पर सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए अपनी प्रतिबद्धता और समर्थन को रेखांकित करने के लिए 2019 को सड़क सुरक्षा वर्ष घोषित करेगी.

•   इस अवसर पर सड़क सुरक्षा के प्रयोजन को बढ़ावा देने में लोगों को शामिल करने के लिए की जा रही पहलों का भी अवलोकन किया जाएगा.

अन्य पहल:

•   अमर चित्र कथा सड़क सुरक्षा पर कॉमिक पुस्तकों का एक सेट जारी करेगी जिसे उसने प्रकाशित किया है. इसका उद्देश्य बच्चों के बीच अनौपचारिक प्रारूप में इस मुद्दे पर जागरूकता पैदा करना है जिससे वे जुड़ सकते हैं.

•   आईआईटी दिल्ली का भारतीय सड़क सुरक्षा अभियान इस मुद्दे पर एक इंटर कॉलेजिएट प्रतियोगिता शुरू करेगा. इसके अतिरिक्त, सड़क सुरक्षा कार्यक्रमों के संचालन के लिए 135 गैर सरकारी संगठनों को पत्र जारी किए जाएंगे.

   इस अवसर पर सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा पर रेट्रो रिफ्लेक्टिव स्टिकर भी लॉन्च किए जाएंगे. इनकी स्पष्टता को उजागर करने के लिए इन्हें वाहनों पर लगाया जाएगा.

   सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान कई अन्य कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिनमें सुरक्षा में उभरते रूझानों पर संगोष्ठियां एवं कार्यशालाएं, सड़क सुरक्षा इंजीनियरिंग, मोटर वाहन बीमा, आपातकालीन देखभाल (प्रोटेक्शन ऑफ गुड समैरिटन एंड फर्स्ट रिस्पॉन्डर ट्रेनिंग), युवाओं की भूमिका और सड़क सुरक्षा में कॉर्पोरेट की भूमिका पर उद्योग / कॉर्पोरेट कॉन्क्लेव शामिल हैं.

•   सराय काले खां (दिल्ली) स्थित आईडीटीआर में स्कूल बस चालक पुनश्चर्या प्रशिक्षण सत्र भी आयोजित किया जाएगा, जहां निजी स्कूलों के बस चालकों को सड़क सुरक्षा पर प्रशिक्षण दिया जाएगा.

 

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी द्वारा जम्मू-कश्मीर में 44,000 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन

Advertisement

Related Categories

Advertisement