नेपाल सरकार ने 200, 500 और 2000 रुपये के भारतीय नोट बैन किए

नेपाल ने 200 रुपये, 500 रुपये और 2000 रुपये के भारतीय नोट बैन कर दिए हैं. अब इन्हें रखना, इनसे कोई सामान खरीदना या भारत से इन्हें नेपाल ले जाना गैर-कानूनी हो गया है.

भारत सरकार ने दो साल पहले देश में नोटबंदी की थी और अब नेपाल ने 100 रुपये से अधिक के भारतीय नोटों के चलन पर रोक लगा दी है. नेपाल कैबिनेट ने तत्काल प्रभाव से इस आदेश को लागू करने का आदेश दिया है.

नेपाल सरकार की अपील:

नेपाल सरकार ने लोगों से अपील की है कि वे अब 100 रुपये से ज्यादा के नोट यानी 200, 500 और 2000 रुपये का नोट ना रखें. यानी नेपाल में अब 100 रुपये तक के ही भारतीय नोट मान्य होंगे.

आर्थिक अपराध के तहत मामला दर्ज होगा:

यदि कोई भी व्यक्ति इन भारतीय रुपयों के साथ पकड़ा जाएगा तो उस पर आर्थिक अपराध के तहत मामला दर्ज होगा. गिरफ्तार कर जेल भी भेजा जाएगा.

व्यापार पर असर:

इस निर्णय से दोनों देश के व्यापार पर असर पड़ेगा. नेपाल का पर्यटन उद्योग भी प्रभावित होगा. भारत के विभिन्न शहरों के लोग भारतीय मुद्रा के साथ नेपाल जाते हैं और आसानी से सामान खरीदकर लाते हैं. अब इससे नेपाल का खुदरा बाजार भी प्रभावित होगा. नेपाल सरकार के फैसले से वहां जाने वाले लाखों भारतीय पर्यटकों और भारत में काम करने वाले नेपाली नागरिकों पर असर पड़ेगा.

नोटों के इस्तेमाल पर रोक:

आपको बता दें कि भारत में जब नोटबंदी हुई थी, तब नेपाल में बड़ी मात्रा में 500 और 1000 के पुराने नोट थे. जिसके कारण वो नोट वहां पर ही अटक गए थे. इसी समस्या को देखते हुए नेपाल में अब इन नोटों के इस्तेमाल पर ही रोक लगा दी है.

भारतीय मुद्रा नेपाल में आसानी से चलती थी. नेपाल के कई बैकों में सैकड़ों करोड़ पुराने नोट फंसे हुए थे, जो वापस नहीं हो पाए थे.

8 नवंबर 2016 को हुई थी नोटबंदी:

बता दें कि भारत सरकार ने 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी का घोषणा किया था, जिसमें 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों पर बैन लगा दिया गया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी को भ्रष्टाचार और कालाधन की समस्या से निजात का रास्ता बताया था.

 

यह भी पढ़ें: नोटबंदी के दौरान बंद हुए 99.3 प्रतिशत नोट वापस आए: RBI

Related Categories

Popular

View More