Are you worried or stressed? Click here for Expert Advice

NTPC बनी पहली ऐसी भारतीय कंपनी, जिसने की संयुक्त राष्ट्र में अपने ऊर्जा कॉम्पैक्ट लक्ष्यों की घोषणा

Anjali Thakur

28 जून, 2021 को नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (NTPC) लिमिटेड, भारत की पहली ऐसी ऊर्जा कंपनी बन गई, जिसने अपने एनर्जी कॉम्पैक्ट लक्ष्यों को यूएन हाई-लेवल डायलॉग ऑन एनर्जी (HLDE) के एक हिस्से के तौर पर घोषित किया है.

NTPC, विद्युत मंत्रालय के तहत भारत की सबसे बड़ी बिजली उत्पादन कंपनी है, जो अपने ऊर्जा कॉम्पैक्ट लक्ष्यों की घोषणा करने वाले दुनिया के कुछ संगठनों में से एक बन गई है. इस कंपनी ने 'मिनिस्ट्रियल थीमैटिक फोरम फॉर द HDLE' इवेंट में अपने इन लक्ष्यों का खुलासा किया.

NTPC के ऊर्जा कॉम्पैक्ट लक्ष्य


• NTPC ने वर्ष, 2032 तक 60 गीगावाट नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता स्थापित करने का लक्ष्य रखा है. इस कंपनी ने वर्ष, 2032 तक शुद्ध ऊर्जा तीव्रता में 10 प्रतिशत की कमी करने का भी लक्ष्य रखा है.
• NTPC ने आगे यह घोषणा की है कि वह वर्ष, 2025 तक स्वच्छ ऊर्जा अनुसंधान की सुविधा और ऊर्जा मूल्य श्रृंखला में स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए कम से कम दो अंतर्राष्ट्रीय गठबंधन और समूह बनाएगी.

ऊर्जा पर संयुक्त राष्ट्र की उच्च स्तरीय वार्ता (HLDE)


• सतत विकास के लिए वर्ष, 2030 एजेंडा के लक्ष्यों और ऊर्जा संबंधी लक्ष्यों के कार्यान्वयन को बढ़ावा देने के लिए संयुक्त राष्ट्र सितंबर, 2021 में न्यूयॉर्क में ऊर्जा पर एक उच्च स्तरीय वार्ता आयोजित करेगा.

NTPC की हरित ऊर्जा पहल


• NTPC अक्षय ऊर्जा (RE) के महत्त्वपूर्ण स्रोतों को शामिल करके, अपने हरित ऊर्जा पोर्टफोलियो को बढ़ाने के लिए विभिन्न पहलों पर काम कर रहा है.
• कंपनी ने पहले अक्षय ऊर्जा स्रोतों के माध्यम से न्यूनतम 32 गीगावाट क्षमता हासिल करने की घोषणा की थी जिसमें वर्ष, 2032 तक इसकी कुल बिजली उत्पादन क्षमता का लगभग 25 प्रतिशत शामिल था. यह देश के सबसे बड़े ऊर्जा उत्पादक के लिए एक बूस्टर होगा जो देश के हरित ऊर्जा चार्ट में इसकी रैंक को आगे बढ़ाएगा.

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें एक लाख रुपए तक कैश

Related Categories

Live users reading now