क्रिस्टिना कोच ने रचा इतिहास, लंबे समय तक अंतरिक्ष में रहने का रिकॉर्ड किया कायम

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की अंतरिक्ष यात्री क्रिस्टीना कोच अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर लगभग 11 महीने बिताने के बाद 06 फरवरी 2020 को सुरक्षित पृथ्वी पर लौट आईं. अंतरिक्ष में उनका यह मिशन किसी महिला का अब तक का सबसे लंबा मिशन है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, क्रिस्टीना कोच अंतरराष्ट्रीय समयानुसार सुबह 09 बजकर 12 मिनट पर पृथ्वी पर लौटीं. उन्होंने अंतरिक्ष में 328 दिन व्यतीत किये. उनके साथ यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के लुका परमितानो एवं रूसी अंतरिक्षक एजेंसी के अलेक्जेंडर स्कोवोर्तसोव भी थे.

नासा के मुताबिक, उन्‍होंने अंतरिक्ष में 328 दिन बिताया. उन्‍होंने इस क्रम में धरती के 5,248 चक्कर लगाए और 13.9 करोड़ किमी की दूरी तय की. उन्‍होंने अंतरिक्ष स्टेशन से बाहर निकलकर 6 बार चहलकदमी की और खुले अंतरिक्ष में 42 घंटे 15 मिनट बिताए. उन्होंने इस दौरान अनेक वैज्ञानिक प्रयोगों व मिशनों को अंजाम दिया. यह क्रिस्टिना कोच का पहला अंतरिक्ष मिशन था.

पिछला रिकॉर्ड

नासा के मुताबिक, पिछला रिकॉर्ड अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री पेगी विटसन के नाम था. पेगी विटसन ने वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान स्टेशन कमांडर के तौर पर 288 दिन तक अंतरराष्‍ट्रीय अंतरिक्ष स्‍टेशन में रहीं थी.

क्रिस्टिना कोच का यह बहुत ही व्‍यस्‍त मिशन था जिसमें भविष्‍य के चंद्रमा और मंगल मिशन का अहम डेटा मिला है. इस मिशन के दौरान वैज्ञानिकों को भविष्य के चंद्रमा और मंगल मिशनों के अतिरिक्त गुरुत्‍वाकर्षण व स्‍पेस रेडिएशन का महिलाओं के शरीर पर प्रभाव को लेकर महत्वपूर्ण डाटा प्राप्‍त हुआ है.

यह भी पढ़ें:भारत ने किया K-4 परमाणु बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण, जाने क्या है इसकी खासियत

पहली बार महिलाओं का दल अंतरिक्ष स्टेशन के बाहर

इतिहास में यह पहला मौका था जब किसी स्पेसवॉक में पूरी तरह महिलाओं का दल अंतरिक्ष स्टेशन के बाहर गया हो. क्रिस्टिना कोच ने अपने मिशन के दौरान 210 अनुसंधानों में हिस्सा लिया. यह अनुसंधान नासा के आगामी चंद्र मिशन और मंगल पर मानव को भेजने की तैयारियों में मददगार होंगे.

यह भी पढ़ें:भारत ने ‘क्लासिकल स्वाइन फीवर’ को नियंत्रित करने का टीका किया विकसित

Related Categories

NEXT STORY
Also Read +
x