शारदा पीठ कॉरिडोर: पाकिस्तान हिंदू तीर्थ यात्रियों के लिए गलियारा खोलने पर सहमत

पाकिस्तान ने पीओके (PoK) स्थित शारदा पीठ गलियारे को हिंदू तीर्थयात्रियों विशेषकर भारत के श्रद्धालुओं के लिए खोलने की अनुमति प्रदान कर दी है. पाकिस्तान द्वारा यह सहमति 25 मार्च 2019 को प्रदान की गई है.

पाकिस्तान ने गुरुद्वारा करतारपुर साहिब और भारत के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक के मध्य गलियारे पर सहमति के बाद शारदा पीठ गलियारे को भारत के लिए खोला है. गौरतलब है कि भारत का विदेश मंत्रालय पहले ही इस गलियारे को खोलने के लिए प्रस्ताव भेज चुका है. इस संबंध में कुछ सरकारी अधिकारी इलाके का दौरा कर प्रधानमंत्री को रिपोर्ट सौंपेगे.

 

शारदा पीठ के बारे में जानकारी

  • पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में मौजूद शारदा पीठ हिंदुओं का एक प्रसिद्ध मंदिर है.
  • श्रीनगर से 130 किलोमीटर की दूरी पर स्थित शारदा पीठ देवी के 18 महाशक्ति पीठों में से एक है.
  • हिंदू मान्यताओं के अनुसार यहां देवी सती का दायां हाथ गिरा था.
  • इस मंदिर को ऋषि कश्यप के नाम पर कश्यपपुर के नाम से भी जाना जाता था. शारदा पीठ में देवी सरस्वती की आराधना की जाती है.
  • मान्यता है कि ऋषि पाणीनि ने यहां अपने अष्टाध्यायी की रचना की थी. यह मंदिर विद्या साधना का महत्वपूर्ण केन्द्र था.
  • यह मंदिर करीब पांच हजार वर्ष पुराना है और महाराजा अशोक के कार्यकाल में इसका निर्माण हुआ था.
  • मंदिर के निकट एक तालाब है जिसे “मादोमती ” के नाम से पुकारा जाता है.
  • मान्यता है कि इसका जल हिंदू समुदाय के लिए कटासराज मंदिर के जल की तरह बहुत महत्व रखता है.


पृष्ठभूमि

उन्नीसवीं सदी में महाराजा गुलाब सिंह ने इसकी आखिरी बार मरम्मत कराई थी. वर्ष 1947 के बंटवारे में बाद हिन्दू श्रद्धालुओं को इस मंदिर के दर्शन करने में दिक्कत आने लगी थी. भारत सरकार द्वारा इस मंदिर के गलियारे को खोलने के लिए कई बार प्रयास किये गये लेकिन अब तक फैसला नहीं हो सकता था. वर्ष 2005 के भूकंप में इस मंदिर को काफी नुकसान हुआ था.

हिंदुओं के 18 महाशक्तिपीठ

1. शंकरी देवी, त्रिंकोमाली श्रीलंका
2. कामाक्षी देवी, कांची, तमिलनाडू
3. सुवर्णकला देवी, प्रद्युम्न, पश्चिमबंगाल
4. चामुंडेश्वरी देवी, मैसूर, कर्नाटक
5. जोगुलअंबा देवी, आलमपुर, आंध्रप्रदेश
6. भराअंबा देवी, श्रीशैलम, आंध्रप्रदेश
7. महालक्ष्मी देवी, कोल्हापुर, महाराष्ट्र
8. इकवीराक्षी देवी, नांदेड़, महाराष्ट्र
9. हरसिद्धी माता मंदिर, उज्जैन, मध्यप्रदेश
10. पुरुहुतिका देवी, पीथमपुरम, आंध्रप्रदेश
11. पूरनगिरि मंदिर, टनकपुर, उत्तराखंड
12. मनीअंबा देवी, आंध्रप्रदेश
13. कामाख्या देवी, गुवाहाटी, असम
14.मधुवेश्वरी देवी, इलाहाबाद, उत्तरप्रदेश
15. वैष्णोदेवी, कांगड़ा, हिमाचलप्रदेश
16. सर्वमंगला देवी, गया, बिहार
17. विशालाक्षी देवी, वाराणसी, उत्तर प्रदेश
18. शारदा देवी , पीओके

 

यह भी पढ़ें: भारत की सबसे गहरी शाफ़्ट गुफा ‘Krem Um Ladaw’ मेघालय में खोजी गई

Advertisement

Related Categories