Are you worried or stressed? Click here for Expert Advice
Next

वर्ष, 2030 तक अमेरिका में कोयले के ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन को पीछे छोड़ देगा प्लास्टिक

Anjali Thakur

बृहस्पतिवार को जारी एक रिपोर्ट में यह कहा गया है कि, प्लास्टिक का कार्बन-सघन उत्पादन इस दशक के भीतर कोयले से चलने वाले बिजली संयंत्रों की तुलना में अधिक ग्रीनहाउस गैसों का उत्सर्जन करने की ओर अग्रसर है, जिससे जलवायु परिवर्तन से निपटने के वैश्विक प्रयासों में कमी आई है.

संयुक्त राज्य अमेरिका का प्लास्टिक उद्योग: विशेष जानकारी

बेनिंगटन कॉलेज और बियॉन्ड प्लास्टिक्स की इस रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है कि, यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका का प्लास्टिक उद्योग अपने पूरे जीवनचक्र में तेल और गैस के लिए ड्रिलिंग और अपनी सुविधाओं को बढ़ावा देने के लिए प्लास्टिक कचरे को जलाने के लिए कम से कम 232 मिलियन टन ग्रीनहाउस गैसों को हर साल जारी करता है. यह उत्सर्जन 116 कोयले से चलने वाले बिजली संयंत्रों के बराबर है.

पृथ्वी के सबसे सक्रिय ज्वालामुखियों में से एक किलाउआ, हवाई के बड़े द्वीप में उगल रहा है आग

पर्यावरण संरक्षण एजेंसी के एक पूर्व क्षेत्रीय प्रशासक और बियॉन्ड प्लास्टिक के अध्यक्ष जूडिथ एन्क ने यह कहा कि, "प्लास्टिक उद्योग के ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन का पैमाना चौंका देने वाला है, लेकिन यह समान रूप से चिंताजनक है कि, सरकार या व्यापारिक समुदाय के केवल कुछ ही लोग इसके बारे में बात कर रहे हैं." .

इसके साथ ही, इस रिपोर्ट में यह पाया गया है कि, पेट्रोकेमिकल सुविधाएं केवल 18 बड़े पैमाने पर कम आय वाले और अल्पसंख्यक समुदायों में क्लस्टर की जाती हैं, जहां 90% प्रदूषण होता है. एन्क ने कहा कि कम से कम एक दर्जन से अधिक प्लास्टिक उत्पादन संयंत्र निर्माणाधीन हैं और 15 और नियोजित हैं, जिसके परिणामस्वरूप यह उत्सर्जन कोयले की शक्ति को समाप्त करने के प्रभाव सहित, अधिक नवीकरणीय ऊर्जा की ओर बढ़ने से होने वाले किसी भी लाभ को कम कर देगा.

बेनिंगटन कॉलेज और बियॉन्ड प्लास्टिक्स की रिपोर्ट का महत्त्वपूर्ण निष्कर्ष

इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि, अधिकारियों ने प्लास्टिक के उत्पादन और प्लास्टिक कचरे के निर्यात के विभिन्न चरणों से संबंधित उत्सर्जन और वायु प्रदूषण को कम करके आंका है. अनुसंधान समूह सामग्री अनुसंधान के रिपोर्ट लेखक जिम वैलेट ने आगे यह भी कहा कि, ऐसा इसलिए है क्योंकि अमेरिकी नियमों के मुताबिक, प्लास्टिक उद्योग को उन्हें रिपोर्ट करने की आवश्यकता नहीं है और कोई संघीय एजेंसी उन्हें ट्रैक नहीं करती है.

भारत में हरित आवरण मिशन को बढ़ावा देंगी कोयला परियोजनाएं

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें एक लाख रुपए तक कैश

Related Categories

Live users reading now