राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सात राज्यों में राज्यपालों की नियुक्ति की

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 21 अगस्त 2018 को सात राज्यों – बिहार, हरियाणा, उत्तराखंड, जम्मू एवं कश्मीर, सिक्किम, मेघालय एवं त्रिपुरा में राज्यपालों की नियुक्ति की.

इस उठापठक में बिहार के गवर्नर सत्यपाल मलिक को जम्मू एवं कश्मीर का मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया है. वे एन.एन. वोहरा का स्थान लेंगे. बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालजी टंडन को बिहार का गवर्नर नियुक्त किया गया है.

सत्यपाल मलिक: जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल

सत्यपाल मलिक हिंसाग्रस्त और राजनीतिक तौर पर अस्थिर जम्मू-कश्मीर के नए राज्यपाल नियुक्त किये गये हैं. वे दस साल से राज्य के राज्यपाल एवं पूर्व अफसरशाह एन.एन. वोहरा का स्थान लेंगे. मलिक को जम्मू-कश्मीर का राज्यपाल बनाकर सरकार ने राज्य राजनीतिक व्यक्ति को भेजने की योजना पर अमल किया है. अब तक जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के लिए पूर्व सैन्य अधिकारी या अफसरशाह को ही नियुक्त किया जाता रहा है.

सत्यपाल मलिक का राजनीतिक करियर

•    उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत मेरठ से छात्र नेता के तौर पर की थी.

•    सत्यपाल मलिक, उत्तर प्रदेश स्थित बागपत में 1974 में भारतीय क्रांति दल में शामिल हुए.

•    वे राज्य सभा में दो बार, 1980 में लोक दल के उम्मीदवार के रूप में तथा 1986 में कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में निर्वाचित हुए थे.

•    वर्ष 1990 में उन्हें मनमोहन सिंह की कैबिनेट में संसदीय राज्य मामलों के मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया.

•    वर्ष 2004 में वे बीजेपी में शामिल हुए तथा बागपत से चरण सिंह के बेटे अजीत सिंह के खिलाफ खड़े हुए. इसमें उन्हें हार मिली थी.

•    मलिक को सितंबर 2017 में बिहार का गवर्नर नियुक्त किया गया था.

लालजी टंडन: बिहार के राज्यपाल
भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता वरिष्ठ नेता लालजी टंडन को बिहार का नया राज्यपाल नियुक्त किया गया है. लालजी टंडन को भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता के तौर पर जाना जाता है. टंडन का जन्म 12 अप्रैल 1935 में हुआ है. लालजी टंडन पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के काफी करीबी रहे हैं. वाजपेयी के राजनीति से संन्यास लेने के बाद वर्ष 2009 में टंडन लखनऊ से लोकसभा का चुनाव लड़े और जीत दर्ज कर सांसद बने.

तथागत रॉय: मेघालय के राज्यपाल
त्रिपुरा के गवर्नर को मेघालय के गवर्नर के रूप में नियुक्त किया गया है, वे गंगा प्रसाद का स्थान लेंगे. रॉय 2002 से 2006 तक भाजपा के पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष थे और पार्टी टिकट पर दो बार लोकसभा चुनाव लड़ चुके थे लेकिन असफल रहे. वर्ष 1990 में अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत से पहले, रॉय कलकत्ता मेट्रो रेलवे परियोजना का हिस्सा रह चुके हैं. वह अपने हिंदुत्व विचारों के लिए जाने जाते हैं.

गंगा प्रसाद: सिक्किम के राज्यपाल
मेघालय के राज्यपाल को सिक्किम का राज्यपाल नियुक्त किया गया है. प्रसाद 18 वर्षों तक बिहार में विधायी परिषद के सदस्य और बिहार विधानसभा में विपक्ष के पूर्व नेता थे.

कप्तान सिंह सोलंकी: त्रिपुरा के राज्यपाल
हरियाणा के गवर्नर कप्तान सिंह सोलंकी को तथागत रॉय के स्थान पर त्रिपुरा का राज्यपाल बनाया गया है. राज्य सभा के पूर्व सदस्य, सोलंकी को वर्ष 2014 में हरियाणा का गवर्नर बाया गया था. अगस्त 2009 में उन्हें राज्य सभा के लिए चुना गया.  

सत्यदेव नारायण: हरियाणा के राज्यपाल
सत्यदेव नारायण को राष्ट्रपति द्वारा हरियाणा का गवर्नर नियुक्त किया गया है. उन्होंने कप्तान सिंह सोलंकी का स्थान लिया है. वे एक प्रसिद्ध दलित नेता हैं तथा बिहार के आठ बार एमएलए रह चुके हैं. वे बीजेपी-जेडीयू गठबंधन के समय वर्ष 2010 में कैबिनेट मंत्री भी रहे थे.

बेबी रानी मौर्या: उत्तराखंड की राज्यपाल

पूर्व आगरा महापौर और राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) के पूर्व सदस्य बेबी रानी मौर्य को उत्तराखंड के राज्यपाल नियुक्त किया गया था. मौर्य आगरा से भाजपा नेता हैं.

 

यह भी पढ़ें: रेलवे ग्रुप डी (Railway Group D): डेली करेंट अफेयर्स प्रैक्टिस सेट और स्टडी मटेरियल

 

 

 
Advertisement

Related Categories