राष्ट्रपति ने संसद के संयुक्त सत्र को किया संबोधित, जाने 10 महत्वपूर्ण बातें

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 20 जून 2019 को संसद के दोनों सदनों को संयुक्त रूप से संबोधित किया. राष्ट्रपति ने संसद को संबोधित करते हुए कहा कि संसद को संबोधित करते हुए खुशी हो रही है. उन्होंने कहा की इस चुनाव की सफलता के लिए सभी मतदाता बधाई के पात्र है.

उन्होंने कहा कि ये विकास यात्रा को आगे बढ़ाने का जनादेश है. साल 2014 से पहले निराशा का माहौल था. आपके अनुभव से सब समृद्ध होगा. देश के हरेक व्यक्ति को समृद्ध करना हमारी सरकार का लक्ष्य है. यह विश्वास 'सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास' पर आधारित है. सरकार के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ा है.

आर्टिकल अच्छा लगा? तो वीडियो भी जरुर देखें!

राष्ट्रपति द्वारा संसद में संबोधित किये गए 10 महत्वपूर्ण बातें

  1. राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में कहा कि देश के लोगों ने मूलभूत सुविधाओं के लिए भी बहुत लंबे समय तक इंतजार किया, लेकिन अब स्थितियां बदल रही हैं. देश के प्रत्येक व्यक्ति को सशक्त करना मेरी सरकार का ध्येय है.
  2. सरकार अब मूलभूत आवश्यकताओं को पूरी करते हुए उनकी आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए सशक्त, सुरक्षित और सर्वसमावेशी भारत के निर्माण की दिशा में आगे बढ़ रही है. नए भारत की परिकल्पना सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास से प्रेरित है.
  3. राष्ट्रपति ने कहा कि साल 2022 में आजादी के 75वें साल में अब नए भारत के कई मुख्य लक्ष्य हासिल कर चुके होंगे. नए भारत के पथ पर शहरी भारत और ग्रामीण भारत दोनों का विकास होगा. मेरी सरकार ने 21 दिन के कम समय में ही किसान, जवान, महिलाओं हेतु काम करना शुरू कर दिया है.
  4. राष्ट्रपति ने जल संकट को 21वीं सदी की सबसे बड़ी समस्या बताते हुए कहा कि जलस्रोत सूख रहे हैं और यह संकट गहराता जा रहा है. देशवासी स्वच्छ भारत की तरह जल प्रबंधन को लेकर भी दिखाएं. सरकार ने नए जलशक्ति मंत्रालय का गठन किया है जिसके दूरगामी लाभ होंगे. कृषि क्षेत्र की उत्पादकता बढ़ाने हेतु लगातार निवेश किया जा रहा है और साल 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की योजना है.
  5. राष्ट्रपति ने कहा कि किसान सम्मान निधि पर हरेक साल 90 हजार करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है, कृषि उपज और ग्रामीण भंडारण की सुविधा दी जाएगी. किसानों को लाभ पहुंचाने हेतु किसान उत्पादक संघ बनाने का लक्ष्य रखा गया है.
  6. राष्ट्रपति ने कहा कि आज भारत दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है. उन्होंने कहा कि रोजगार सृजन के लिए MSME सेक्टर अहम भूमिका निभा रहा है.
  7. राष्ट्रपति ने कहा कि सुशासन सुनिश्चित करने से भ्रष्टाचार कम होता है और मेरी सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टोलरेंस की नीति की ओर व्यापक बनाएगी. ह्यमन इंटरफेस को कम करने के लिए तकनीक का ज्यादा इस्तेमाल किया जाएगा. कालेधन पर लगाम लगाने के लिए भी कदम उठाए जाएंगे. लोकपाल की नियुक्ति से भ्रष्टाचार पर लगाम लगेगी. भगोड़ों को देश लाने के लिए प्रत्यर्पण संधि हुई हैं.
  8. राष्ट्रपति ने कहा कि समृद्ध भारत के निर्माण में इन्फ्रास्ट्रक्चर की भूमिका अहम है. वेस्ट मेटेरियल का इस्तेमाल भी सड़क निर्माण में किया जा रहा है और इससे रोजगार के नए अवसर भी बढ़ेगे. गांव, पूर्वोत्तर और आदिवासी इलाकों में भी कनेक्टिविटी बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है. भारत माला प्रजोक्ट के तहत साल 2022 तक 35 हजार किलोमीटर रोड बनने हैं.
  9. राष्ट्रपति के अनुसार देश की सेनाओं को आधुनिक और मजबूती देने के लिए सरकार प्रयासरत है. राफेल और अपाचे विमान जल्द ही हमारी वायुसेना का हिस्सा होंगे. उन्होंने कहा कि नेशनल वॉर मेमोरियल शहीदों को राष्ट्र की श्रद्धांजलि है, पुलिस मेमोरियल भी इसी की एक मिसाल है.
  10. राष्ट्रपति ने कहा कि मेरी सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देती है. मेरी सरकार ने सर्जिकल स्ट्राइक के द्वारा यह साबित कर दिया है. आतंकियों और नक्सलियों पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है. उन्होंने कहा कि अवैध तरीके से दाखिल हुए विदेशी देश के लिए खतरा है और घुसपैठ की समस्या से जूझ रहे इलाकों में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) लागू किया जाएगा. सीमा की सुरक्षा को और सशक्त किया जाएगा ताकि घुसपैठ को रोका जा सके.
For Latest Current Affairs & GK, Click here

Related Categories

Popular

View More