प्रधानमंत्री मोदी 12 सितंबर को किसान मन-धन योजना की शुरूआत करेंगे, जानिए इस योजना के बारे में सबकुछ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 सितंबर 2019 को रांची, झारखंड में किसान मन-धन योजना की शुरुआत करेंगे. इस योजना के अंतर्गत 60 वर्ष की आयु के पांच करोड़ छोटे और सीमांत किसानों को कम से कम 3,000 रुपये प्रतिमाह की पेंशन उपलब्‍ध कराई जाएगी.

केंद्र सरकार का इस योजना के पीछे मुख्य उदेश्य वृद्ध किसानों के जीवन को सुरक्षित करना है. इस योजना हेतु अगले तीन साल में करीब 10,774 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. इस योजना की शुभारंभ से पहले ही बड़ी संख्या में किसानों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है.

झारखंड में इसके लिए करीब 10 हजार कॉमन सेंटर शुरू किए गए हैं. इस योजना का लाभ पांच करोड़ किसानों तक पहुंचाने का लक्ष्य है. 

इस योजना का लाभ

पेंशन योजना का फायदा उठाने हेतु किसान को कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा. इस योजना का लाभ पाने वाले सभी छोटे तथा सीमांत किसान पा सकेंगे. किसान अपना मासिक योगदान पीएम-किसान की किस्तों से या सीएससी के माध्यम से कर सकते हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रों में अनुसूचित जनजाति के छात्रों को उच्च प्राथमिक, माध्यमिक और वरिष्ठ माध्यमिक स्तर की शिक्षा देने हेतु 400 एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालयों का भी उद्घाटन करेंगे.

योजना के लिए आवेदन करने की उम्र सीमा

सभी छोटे और सीमांत किसान जिनकी आयु वर्तमान में 18 से 40 वर्ष के बीच है, वे  इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं. इस योजना का लाभ लेने के लिए 18 से 40 साल तक के ही किसान अपना प्रीमियम जमा कर सकते हैं.

इस तरह किसी किसान को कम से 20 और अधिकतम 42 साल तक अपने हिस्से का 55 से 200 रुपये तक मासिक प्रीमियम जमा करना होगा. योजना के तहत सरकार 60 साल की उम्र पार करने के बाद किसानों को 3 हजार रुपये मासिक पेंशन देगी.

यदि कोई किसान बीच में योजना को  छोड़ना चाहता है तो उसका पैसा नहीं डूबेगा. उसने स्कीम छोड़ने तक जितनी रकम जमा की होगी उस पर बचत खाता (सेविंग अकाउंट) का ब्याज मिलेगा.

 

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी,अभी डाउनलोड करें| Android|IOS

Related Categories

Popular

View More