जम्मू और कश्मीर के उधमपुर में नदी प्रदूषण समाप्ति योजना को मंजूरी

राष्ट्रीय नदी संरक्षण योजना (एनआरसीपी) के माध्यम से विभिन्न नदियों के चिन्हित भागों में प्रदूषण समाप्त करने के राज्य सरकारों के प्रयासों में सहायता देने के लिए पर्यावरण वन, और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने जम्मू और कश्मीर के उधमपुर में देविका तथा तवी नदियों के प्रदूषण को समाप्त करने के लिए एक परियोजना की स्वीकृति दे दी है. यह परियोजना मार्च, 2021 तक पूरी की जाएगी.

परियोजना पूरा होने से दोनों नदियों के प्रदूषण बोझ में कमी का प्रत्यक्ष लाभ मिलेगा और पानी की गुणवत्ता में सुधार होगा. शहर में गंदे पानी की निकासी के लिए व्यवस्था बनाने और गंदे पानी की सफाई करने से उधमपुर शहर के सौंदर्य और स्वच्छता परिस्थितियों में सुधार होगा.

परियोजना का बजट

परियोजना की कुल स्वीकृत राशि 186.74 करोड़ रुपये है और यह राशि 90:10 लागत आधार पर भारत सरकार और जम्मू-कश्मीर सरकार वहन करेंगी. परियोजना में केंद्र सरकार की हिस्सेदारी 166.86 करोड़ रुपये की होगी और राज्य सरकार की हिस्सेदारी 18.08 करोड़ रुपये होगी. शहरी इंजीनियरिंग तथा पर्यावरण विभाग (यूईईडी) यह परियोजना लागू करेगा.

परियोजना के महत्वपूर्ण बिंदु

•    परियोजना के अंतर्गत 129.27 किलोमीटर की सीवर लाइन बिछाई जाएगी जो उधमपुर शहर में गंदा जल निकासी प्रणाली सुनिश्चित करेगी.

•    गंदा जल निकालने के लिए 3 पंपिंग स्टेशन स्थापित किए जायेंगे और 13.60 मिलियन लीटर दैनिक क्षमता के तीन गंदे पानी की सफाई करने वाले संयंत्र लगाए जायेंगे.

•    इस परियोजना के अंतर्गत गैर सीवर कार्य भी कवर होंगे और तीन घाटों पर लगभग 340 मीटर लंबाई में रिवर फ्रंट विकसित किया जाएगा.

•    इसमें धार्मिक त्यौहारों/ उत्सवों के अवसर पर भारी भीड़ वाला मेला घाट शामिल है.

•    शवदाह में लकड़ी की खपत कम करने के लिए दो उन्नत शवदाह गृह बनाए जायेंगे और राख निष्पादन की व्यवस्था की जाएगी.

 

यह भी पढ़ें: सरकार ने कारीगरों की मजदूरी 36 प्रतिशत से अधिक बढ़ाने को मंजूरी प्रदान की

 

Related Categories

Popular

View More