पंजाब सरकार ने वर्ष 2019-20 का बजट पेश किया

पंजाब के वित्तमंत्री मनप्रीत बादल ने 18 फरवरी 2019 को विधानसभा में बजट पेश किया. वित्तमंत्री ने वर्ष 2019-20 के लिये कुल 1,58,493 करोड़ रुपये के खर्च का बजट पेश किया. वहीं बजट में इस बार कोई भी नया कर नहीं लगाया गया.

बजट में स्वास्थ्य, शिक्षा, ग्रामीण और शहरी ढांचागत सुविधाओं पर जोर दिया गया है. इन क्षेत्रों के लिये बजट आबंटन में 9 से लेकर 36 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की गयी है. राज्य पर 2019- 20 के दौरान कुल बकाया कर्ज 2,29,612 करोड़ रुपए तक पहुंच जाने का अनुमान लगाया गया है जो कि 2018-19 के संशोधित अनुमान में 2,12,276 करोड़ रुपए रहा है.

किसानो की कर्ज माफी के लिए 3000 करोड़ रुपए:

बजट में किसानों के कर्ज माफी के लिए 3,000 करोड़ रुपए का प्रस्ताव किया गया है. वित्त मंत्री ने बजट में किसी नए टैक्स का प्रस्ताव नहीं किया और उम्मीद जताई कि टैक्स अनुपालन और प्रशासन में सुधार से व्यय और आय के बीच अंतर कम होगा.

पेंशन पर सरकार का खर्च:

पेंशन पर सरकार का खर्च 10875 करोड़ रुपये हो गया है. इस तरह से इस खर्च में 6.06 फीसद की वृद्धि हुई है. बजट के मुताबिक, पंजाब की कुल जीडीपी 518291 करोड़ पहुंच गई है. अगले वर्ष कर्ज का भुगतान 28.93 फीसदी से कम होकर 22.51 फीसद रहने का अनुमान है.

बजट से संबंधित मुख्य तथ्य:

   वित्तमंत्री के अनुसार, 13643 करोड़ रुपये कृषि के लिए रखा गया. बिजली पर सरकार 8969 करोड़ रुपये की सब्सिडी देगी.

   बजट में ग्रामीण विकास और पंचायतों के लिए 1089.54 करोड़ की वृद्धि की गई है. बजट में इसके लिए 4109.17 करोड़ का प्रावधान किया गया है. इससे 36.08 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है.

   बजट में डेरा बाबा नानक कस्बे के बुनियादी ढांचे के लिए 25 करोड़ का प्रावधान किया गया है. पोस्ट मैट्रिक योजना के लिए 938.71 करोड़ रुपये रखे गए.

   बजट में राज्‍य में नए अंग्रेजी स्‍कूल खोलने का प्रावधान भी किया गया है. बजट में वित्‍तमंत्री ने कहा कि राज्‍य में 2010 नए सरकारी अंग्रेजी माध्‍यम के स्‍कूल खोले जाएंगे. राज्‍य में अभी 12,921 प्राइमरी स्कूल, 2672 मिडल स्कूल, 1744 हाई स्कूल, 189 सीनियर सेकेंडरी स्कूल, 2387 इंगलिश माध्यम स्कूल हैं.

   बजट में ब्लॉक लेवल खेलों के लिए 43 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. जालंधर में पीपीपी मॉडल पर एक स्टेडियम बनाने का भी प्रस्‍ताव है.

   पंजाब में वुड पार्क बनाने की योजना है. इससे राज्‍य में वुड इंड्रस्‍टी को बढ़ावा मिलेगा.

   वित्‍तमंत्री ने घोषणा की कि पटियाला और अमृतसर के मेडिकल कालेज को अपग्रेड किया जाएगा. इसके लिए बजट में 189.15 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है.

   बजट में 167 शहरों में नाली, पार्क, स्ट्रीट लाइट के लिए 300 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है.

   जलियांवाला बाग के लिए 5 करोड़ रुपये का प्रावधान.

   लुधियाना के बूढ़ा नाले के लिए 4.38 करोड़ रुपये का प्रावधान.

बजट में कृषि क्षेत्र के लिए घोषणाएं:

   बजट में कृषि क्षेत्र के लिए सबसे अधिक 13643 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है.

   किसानों की कर्ज माफी के लिए नए साल में तीन हजार करोड़ की व्यवस्था किया गया है.

•   भूमिहीन किसानों को भी राहत दी जाएगी.

   किसानों को मुफ्त बिजली के लिए 8969 करोड़ की सब्सिडी राशि का प्रावधान किया गया है.

   मंडियों के विकास के लिए 750 करोड रुपए की व्यवस्था किया गया.

बजट में नई योजना:

वित्‍तमंत्री मनप्रीत बादल ने बजट में मनरेगा की तर्ज पर शहरी बेरोजगारों की खत्म करने के लिए ‘मेरा काम मेरा गौरव’ योजना शुरू करने की घोषणा की. इसके लिए 90 करोड़ का प्रावधान किया गया है. उद्योगों को बिजली सब्सिडी देने के लिए बजट में 1513 करोड़ रुपये का प्रावधान रखा गया है.

बजट में 'मेक इन पंजाब' योजना शुरू करने की घोषणा की. वित्‍तमंत्री ने कहा कि मेक इन पंजाब प्रोजेक्ट बनेगा और इसके लिए 50 फीसदी मटीरियल पंजाब से खरीदा जाएगा.

बजट में अन्‍य घोषणाएं:

   पटियाला में ओपन यूनिवर्सिटी खोलने का प्रावधान.

   सरबत सेहत बीमा योजना की घोषणा. सरबत सेहत बीमा योजना के तहत 42 लाख परिवार को कवर किया जाएगा. इसके लिए 250 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया हैं.

   बरनाला और मानसा में वृद्ध आश्रम बनाए जाएंगे. इसके लिए 31.14 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है.

   लुधियाना में मूक बधिर बच्चों के लिए स्कूल खोलने की घोषणा.

•   स्मार्ट विलेज के लिए 2600 करोड़ रुपये का प्रावधान.

   मनरेगा में 92 फीसदी बजट बढ़ाया. 500 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया.

•   किसी गांव के स्मार्ट विलेज बनने पर पांच करोड़ रुपये का इनाम देने की घोषणा.

 

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश सरकार ने वर्ष 2019-20 का बजट पेश किया

Advertisement

Related Categories