Are you worried or stressed? Click here for Expert Advice
Next

तमिलनाडु सरकार ने पूर्व RBI गवर्नर रघुराम राजन को आर्थिक सलाहकार परिषद में किया शामिल

Vikash Tiwari

तमिलनाडु में अर्थव्यवस्था को गति देने हेतु दुनिया के जाने-माने अर्थशास्त्रियों को नई बनी आर्थिक सलाहकार परिषद में शामिल किया गया है. तमिलनाडु सरकार ने पूर्व RBI गवर्नर रघुराम राजन को आर्थिक सलाहकार परिषद में शामिल किया है. राज्य के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने 21 जून 2021 को घोषणा की है कि मुख्यमंत्री के आर्थिक सलाहकार परिषद में प्रमुख अर्थशास्त्रियों को शामिल किया गया है.

मुख्यमंत्री एमके स्टालिन की एडवाइजरी काउंसिल में कई और आर्थिक विशेषज्ञ भी शामिल हैं. तमिलनाडु सरकार की आर्थिक सलाहकार परिषद में इकनॉमिक एक्सपर्ट रघुराम राजन के साथ एस्थर डफ्लो और डॉक्टर अरविंद सुब्रमणियन जैसे नामों को भी जोड़ा गया है.

समाज के हर तबके तक आर्थिक विकास का लाभ

राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने कहा कि इस परिषद की संस्तुति के आधार पर राज्य की अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित की जाएगी और समाज के हर तबके तक आर्थिक विकास का लाभ पहुंचाया जाएगा. इस विकास से दक्षिणी राज्य में आर्थिक नीति में परिवर्तन आने की संभावना है. इससे टेक्नोलॉजी अपग्रेडेशन के माध्यम से जिलास्तरीय विविध उद्योग को प्रोत्साहन मिलेगा.

एक्सपर्ट कमिटी गठित

राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने कहा कि मध्यम, मछोले एवं छोटे उद्योगों को पुनर्जीवित करने के लिए उद्योगपतियों, बैकिंग, वित्तीय विशेषज्ञों और सरकारी अधिकारियों की एक एक्सपर्ट कमिटी गठित की जाएगी जो इस क्षेत्र में नई योजनाओं को लेकर आएगी.

राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने कहा कि इकोनोमिक एडवाइजरी कमिटी और अन्य कमिटी राज्य की अर्थव्यवस्था का अध्ययन करेगी और राज्य की जनता के हित में नई नीति बनाने के लिए सलाह देगी. इसका फायदा समाज के हर तबके तक पहुंचेगा. 

अरविंद सुब्रमणियन सलाहकार परिषद में शामिल

दूसरी ओर तमिलनाडु सरकार की आर्थिक सलाहकार परिषद में अरविंद सुब्रमणियन को जगह मिली है. वित्त मंत्रालय में पूर्व में मुख्य आर्थिक सलाहकार रहे सुब्रमणियन ने जुलाई 2020 में अशोका यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र विभाग के प्रोफेसर के तौर पर काम शुरू किया था. इसी साल मार्च में उन्होंने यूनिवर्सिटी प्रोफेसर के पद से इस्तीफा दे दिया.

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें एक लाख रुपए तक कैश

Related Categories

Live users reading now