वरिष्ठ वकील और पूर्व केंद्रीय मंत्री राम जेठमलानी का निधन

Ram Jethmalani passes away: सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 8 सितंबर 2019 को निधन हो गया. वे 95 वर्ष के थे. राम जेठमलानी लंबे समय से बीमार थे. वे देश के सबसे बेहतरीन वकीलों में से एक थे. राम जेठमलानी एक मशहूर वकील के साथ राजनेता भी थे.

राम जेठमलानी को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का काफ़ी करीबी मित्र माना जाता था. वाजपेयी सरकार में जेठमलानी ने क़ानून मंत्रालय भी संभाला था. राम जेठमलानी को आपराधिक मामलों का विशेषज्ञ माना जाता था. राम जेठमलानी देश के सबसे महंगे वकीलों में से एक थे. वे केस लड़ने के लिए लाखों रूपये की फीस लेते थे.

राम जेठमलानी के बारे में

• राम जेठमलानी का जन्म पाकिस्तान के शिकारपुर में 14 सितंबर 1923 को हुआ था. उस साम्य पाकिस्तान भारत का ही हिस्सा था.

• राम जेठमलानी 17 साल की उम्र में वकालत की डिग्री हासिल कर ली थी. जेठमलानी के बेटे महेश जेठमलानी भी जाने-माने अधिवक्ता हैं. उनकी एक बेटी अमेरिका में रहती हैं.

• जेठमलानी ने साल 1959 में केएम नानावती बनाम महाराष्ट्र सरकार का पहला केस लड़ा था और वे उससे काफी प्रसिद्ध हो गए थे.

• उन्हें 07 मई 2010 को सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन का अध्यक्ष चुना गया था.

• उन्हें साल 2010 में फिर से भाजपा ने पार्टी में शामिल कर लिया था और राजस्थान से राज्य सभा का सांसद बनाया गया था.

• राम जेठमलानी उच्च प्रोफाइल से सम्बन्धित मामलों के मुकदमे की पैरवी करने के वजह से विवादास्पद रहे तथा उसके लिए उन्हें कई बार कड़ी आलोचना का सामना भी करना पड़ा था.

• वे लोक सभा में भारतीय जनता पार्टी से मुंबई से दो बार चुनाव भी जीते थे. वे अटल बिहारी बाजपेयी की सरकार में केन्द्रीय कानून मन्त्री तथा शहरी विकास मंत्री भी रहे थे.

यह भी पढ़ें: भारत की पहली महिला डीजीपी कंचन चौधरी भट्टाचार्य का निधन

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी,अभी डाउनलोड करें| Android|IOS

Related Categories

Popular

View More