रवि शास्त्री फिर बने टीम इंडिया के कोच

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने 16 अगस्त 2019 को भारतीय टीम के नए हेड कोच की घोषणा की. रवि शास्त्री (Ravi Shastri) को एक बार फिर भारतीय पुरुष टीम के मुख्च कोच बनाया गया है. वे साल 2021 तक टीम इंडिया के हेड कोच बने रहेंगे.

तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी ने रवि शास्त्री को भारतीय टीम के मुख्च कोच पद पर बरकरार रखा है. सीएसी ने 16 अगस्त 2019 को संवाददाता सम्मेलन कर इस बात की जानकारी दी.

रवि शास्त्री के साथ कोच पद की दौड़ में न्यूजीलैंड के पूर्व कोच माइक हेसन, श्रीलंका के पूर्व कोच टॉम मूडी, वेस्टइंडीज और अफगानिस्तान के पूर्व कोच फिल सिमंस, भारत के पूर्व फील्डिंग कोच रोबिन सिंह और भारत के पूर्व मैनेजर लालचंद राजपूत भी शामिल थे.

जुलाई 2017 में दूसरी बार कोच बनने के बाद रवि शास्त्री की कोचिंग में भारतीय टीम ने 21 टेस्ट मैच खेले, जिसमें भारत को 13 में जीत मिली. भारत ने टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 36 में से 25 में जीत हासिल की. इसी तरह वनडे में भी भारतीय टीम ने 60 मैचों में 43 में जीत हासिल की.

रवि शास्त्री तीसरी बार कोच बनाए गए

बीसीसीआई ने भारतीय टीम के लिए अब तक 16 बार कोच चुने हैं. इनमें से चार कोच विदेशी रहे. बीसीसीआई ने साल 2000 के बाद से सात पूर्व क्रिकेटरों को नौ बार भारतीय टीम के लिए कोच चुना था. इनमें से चार विदेशी और तिन भारतीय शामिल हैं. वर्तमान कोच रवि शास्त्री पिछले 19 साल के इतिहास में तीसरी बार कोच बनाए गए हैं.

रवि शास्त्री के बारे में:

रवि शास्त्री ने भारत के लिए 80 टेस्ट और 150 वनडे खेले हैं. इसके अलावा वे पिछले तीन वर्षों से भार्तियु टीम के हेड कोच हैं. इसके पहले भी वे लगभग दो वर्षों तक भारतीय टीम के डायरेक्टर के तौर पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

उन्होंने क्रिकेट खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट टीम के लिए साल 1981 से साल 1992 तक टेस्ट क्रिकेट और एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेला है. उन्होंने अपने क्रिकेट कैरियर में धीमी गति के गेंदबाज और बल्लेबाज की भूमिका निभाई है. उन्हें इस कारण एक ऑल राउंडर के तौर पर जाना जाता था.

करेंट अफेयर्स ऐप से करें कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी |अभी डाउनलोड करें|IOS

Related Categories

Popular

View More