Advertisement

हरियाणा सरकार ने संत गुरु रविदास सहायता योजना आरंभ की

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 4 फरवरी 2018 को संत गुरु रविदास सहायता योजना के तहत छोटे दस्तकारों को बिना ब्याज के 25,000 रुपये तक के ऋण उपलब्ध करवाने तथा राज्य के 11 जिलों में बाबा साहेब डॉ. भीम राव अम्बेडकर के नाम से छात्रावास खोलने की घोषणा की.

हरियाणा राज्य में अनुसूचित एवं पिछड़े वर्ग को जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देने के लिए तहसील स्तर पर अन्त्योदय कार्यालय खोले जायेंगे. इन योजनाओं का लाभ लेने के लिए ऑनलाईन आवेदन भी किये जा सकेंगे.

मुख्यमंत्री द्वारा की गयी प्रमुख घोषणाएं

•    इस योजना के तहत कोई भी जरूरतमंद छोटा दस्तकार या महिला स्वरोजगार के लिए बैंक से 25 हजार रुपये तक का लोन ले सकता है.

•    इसका ब्याज सरकार द्वारा भरा जाएगा.

•    इसके बाद अप्रैल माह से राज्य के 11 जिलों में डॉ. भीमराव अम्बेडकर छात्रावास स्थापित करने का कार्य भी शुरू किया जाएगा.


•    हरियाणा राज्य में व्यापक सर्वेक्षण के बाद सवा तीन लाख परिवारों को चिन्हित किया गया हैं, जिनके पास मकान नहीं है. वर्ष 2022 तक सभी परिवारों को पक्के मकान दिए जाएगें.

•    पलवल में भगवान विश्वकर्मा के नाम से कौशल विकास विश्वविद्यालय स्थापित किया जा रहा है.

•    स्वरोजगार को प्रोत्साहन देने के स्टैंडअप कार्यक्रम का लाभ उठाने के लिए युवाओं को हुनरमंद बनाने का काम सरकार कर रही है.

•    मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरु रविदास की जन्मस्थली काशी की नि:शुल्क यात्रा के लिए सरकार योजना शुरू करने जा रही हैं. हरियाणा से जो भी श्रद्धालु काशी जाना चाहेगा, उसको उपायुक्त कार्यालय में आवेदन करने के बाद कूपन दिया जाएगा.

टिप्पणी

हरियाणा सरकार द्वारा आरंभ की गयी संत गुरु रविदास सहायता योजना से प्रदेश के छोटे हस्तशिल्प कारीगरों को सहायता प्राप्त होगी तथा राज्य में इस दिशा में सार्थक काम संभव हो सकेगा. दस्तकारी में लिप्त कारीगरों की सहायता से राज्य में स्वरोजगार को भी बढ़ावा मिल सकेगा.

कुसुम योजना: 3 करोड़ सिंचाई पंप सौर उर्जा से लैस होंगे

Advertisement

Related Categories

Advertisement