Advertisement

सऊदी अरब ने कनाडा के साथ व्यापारिक संबंधों पर रोक लगाने की घोषणा की

सऊदी अरब द्वारा हाल ही में कनाडा के साथ व्यापारिक और निवेश संबंधों पर रोक लगाए जाने की घोषणा की गई है. सऊदी अरब की आधिकारिक समाचार एजेंसी सऊदी प्रेस एजेंसी द्वारा 05 अगस्त 2018 को यह जानकारी दी गई.

सऊदी अरब ने यह कदम कनाडा के विदेश मंत्री की उस अपील के बाद उठाया है जिसमें उन्होंने सऊदी अरब में गिरफ्तार किये गये नागरिक अधिकार कार्यकर्ता की रिहाई की मांग की थी.

सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, सऊदी अरब ने कनाडा को 24 घंटे के भीतर अपने राजदूत को वापस बुलाने या उसे देश छोड़ने के लिए कहा है. सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने कनाडा के विदेश मंत्रालय को इसकी जानकारी दे दी है. कनाडा के दूतावास ने सऊदी अरब से नागरिक अधिकार कार्यकर्ता की ‘तुरंत रिहाई’ की मांग की है.

घटनाक्रम


•    रियाद में कनाडाई दूतावास ने जेल में बंद नागरिक अधिकार कार्यकर्ताओं को रिहा करने की मांग की थी जिसके बाद, विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘सऊदी अरब अपने अंदरुनी मामलों में हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं करेगा.’

•    इसके बाद सऊदी अरब ने कनाडा के राजदूत को देश से निष्कासित करने और ओटावा के साथ सभी व्यापार समझौतों को रोकने का ऐलान किया.

•    सऊदी अरब ने कनाडाई राजदूत डेनिस होराक को देश छोड़ने के लिए 24 घंटे का समय दिया है.

•    बदावी को उनकी सहयोगी प्रचार नसीमा अल-सदाह के साथ बीते हफ्ते गिरफ्तार किया गया था.

क्या है विवाद?

 

कनाडा ने सऊदी अरब की जेल में बंद मानवाधिकार कार्यकर्ता रैफ बदावी एवं उसकी बहन समर बदावी को बंधक बनाकर रखने का विरोध किया है. रैफ बदावी को वर्ष 2012 में इस्लाम का अपमान करने के जुर्म में दस साल की जेल और 1,000 कोड़े मारने की सजा सुनाई गई है. बदावी ने देश में धर्म की भूमिका पर बहस के लिए 'फ्री सऊदी लिबरल' वेबसाइट शुरू की थी. बदावी को जून, 2012 में साइबर क्राइम और अपने पिता की अवहेलना के आरोपों में गिरफ्तार कर लिया गया था. उनकी पत्नी इंसाफ हैदर को कनाडा में शरण दी गई है.

 

 

यह भी पढ़ें: दो भारतीय समाजसेवियों को रमन मैगसेसे पुरस्कार

 
Advertisement

Related Categories

Advertisement